बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव को ‘आप’ ने दिया समर्थन का भरोसा

सेना से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ वाराणसी सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए आम आदमी पार्टी ने उसे समर्थन का भरोसा दिया है।

Published by Dhananjay Singh Published: April 1, 2019 | 9:00 pm

लखनऊ: सेना से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ वाराणसी सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए आम आदमी पार्टी ने उसे समर्थन का भरोसा दिया है।

तेज बहादुर ने सोमवार को पत्रकारों के सामने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनावी जंग में आम आदमी पार्टी (आप) ने उसे समर्थन देने का भरोसा दिया है। अन्य पार्टियों से भी समर्थन लेने के लिए उनकी बातचीत चल रही है।

बर्खास्त जवान ने बताया कि वासंतिक चैत्र नवरात्रि में वाराणसी आने को सोचा है लेकिन अभी आने की तिथि तय नहीं हो पाई है। वास्तव में प्रधानमंत्री के खिलाफ ताल ठोंकेगे के सवाल पर उन्होंने अनमने ढंग से जवाब देते हुए हां कहा।

यह भी देखें:-पाकिस्तान के 4 F-16 विमानों की भारत की सीमा में घुसने की कोशिश

मूलरूप से हरियाणा के महेन्द्रगढ़ निवासी तेज बहादुर अपने गृह राज्य के रेवाणी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान कर पूरे देश में सुर्खियां बटोर चुके हैं। वहां पत्रकारों से बातचीत में तेज बहादुर ने प्रधानमंत्री मोदी को घेरते हुए सवाल उठाया था कि प्रधानमंत्री मोदी अर्ध-सैनिक बलों के जवानों को शहीद का दर्जा देंगे, क्या वे उन्हें पेंशन भी देंगे?

मै असली चौकीदार

तेज बहादुर ने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी से पूछेंगे कि उन्होंने जो वादे किए थे, हमें बताइए कि उनके लिए आज तक क्या किया? प्रधानमंत्री के चौकादार अभियान पर तंज कसते हुए खुद को ‘असली चौकीदार’ और प्रधानमंत्री को ‘नकली चौकीदार बताया था। तेज बहादुर ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) में मैंने भ्रष्टाचार का मामला उठाया था। मुझे बर्खास्त कर दिया गया। मेरा पहला उद्देश्य सुरक्षाबलों को मजबूत करना तथा दूसरा भ्रष्टाचार खत्म करना होगा।

यह भी देखें:-भारत पाक सीमा पर दिखे एफ-16 विमान, सुखोई और मिराज ने खदेड़ा

उल्लेखनीय है कि तेज बहादुर ने वर्ष 2017 में सोशल मीडिया पर एक वीडियो अपलोड किया था, जिसमें वह जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पहाड़ी क्षेत्र के बर्फीले स्थान पर सैनिकों को मिलने वाले भोजन की गुणवत्ता की शिकायत करते नजर आया था। इसके बाद सेना ने उसको अनुशासनहीनता के आरोप में बर्खास्त कर दिया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App