×

आमिर खान अइसे ही थोड़े मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहलाते हैं...

भैया खानों में खान हैं अपने आमिर खान। अइसे ही थोड़े मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहलाते हैं।

nitendra verma
X

नितेंन्द्र वर्मा (फोटो: न्यूजट्रैक)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भैया खानों में खान हैं अपने आमिर खान। अइसे ही थोड़े मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहलाते हैं। मेहनत किये हैं। खून पसीने औ दिन रात एक किए हैं तब जाके ये रुतबा हासिल किये हैं। कउनो मजाक थोड़े ही है। मतलब काम कोई भी हो पूरी प्लानिंग से होगा और फिर उसका एक्सजिक्यूशन और धाँसू तरीके से होगा।

अब उनका हालिया तलाक ही ले लीजिए। पूरी दुनिया हैरान है कि आखिर किये कैसे। और तो और किसी को भनक तक नहीं लगने दिए। खुद बयान जारी न करते तो दुनिया अँधेरे में ही रह जाती। आखिरकार पूरे पन्द्रह साल तक हँसी ख़ुशी, राजी ख़ुशी रहने के बाद आमिर खान और किरण राव ने आपसी सहमति से ख़ुशी ख़ुशी तलाक लेने का फैसला कर ही लिया।

उनके संयुक्त बयान की माने तो इन पन्द्रह सालों में दोनों ने हर पल को हँसी ख़ुशी से जिया। इनका रिश्ता भी विश्वास, सम्मान और प्यार के साथ आगे बढ़ता रहा। अरे भैया इतना खूबसूरत सफर तो उनका भी नहीं होता होगा तो ताउम्र एक साथ रहते हैं। वह पति पत्नी ही कैसे जिनके बीच हफ्ते में कम से कम दो बार झगड़ा न हो। फिर तो पक्का कहीं न कहीं गड़बड़ है। ये दोनों शायद दुनिया के पहले कपल होंगे जिनके पन्द्रह सालों का एक एक पल हँसी ख़ुशी से भरा था।

अरे इतना ही हँसी ख़ुशी से भरा था तो तलाक लेने को किसी डॉक्टर ने बताया था। जिंदगी भर साथ निभाते। मतलब एकदम पिच्चर समझे हो। बेवकूफ समझे हो जनता को कि कुछ भी कहोगे तो मान लेंगे। एक बार के सावन में ये आमिर ही थे जो किसी वजह से किरण के अपने पास न होने पे सोशल मीडिया पे डाले थे- आये हाय ये मजबूरी ये मौसम और ये दूरी। बताइये इस बार सावन आने से पहले ही तलाक दे दिए। अब बेचारा सावन क्या सोचेगा। और क्या अब दूरी नहीं रहेगी?

आगे जो बता रहे हैं वो तो और हास्यापद है। बताते हैं कि दोनों ने अलगाव की योजना कुछ समय पहले ही तैयार कर ली थी। बताइये एक होने की योजना बनाते तो लोगों को देखा सुना गया है लेकिन भैया, बड़े लोग, बड़ी बातें। हो सकता है ये लोग अलग होने की योजना भी पहले से ही बना लेते हों।

अच्छा किरण राव अब ये नहीं बता रहीं कि उन्हें डर लगना बंद हो गया है या अभी भी लग रहा है। मतलब अगर बता देतीं तो उसी हिसाब से सोचा जाता। अब आमिर अगर भविष्य में सत्यमेव जयते बोलेंगे तो भला किस मुँह से बोलेंगे।

इधर आमिर के तलाक की खबर से उनके प्रशंसक बेहद उदास हैं। उनमें शोक की लहर है। तमाम तो जबसे सुने है खाना पीना सब छोड़ दिए हैं। इसका एक ही इलाज है कि आमिर खान जल्दी से नई खुशखबरी अपने फैंस को दे दें।

बाकि लाइफ उनकी है फैसला उनका है। अपना काम है चुटकी लेना सो ले रहे हैं। आप भी जमके लेते रहिये... चुटकी।

(लेखक व्यंग्यकार हैं)

(यह लेखक के निजी विचार हैं)

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story