Top

सोशल मीडिया कहीं आपके लिए अभिशाप ना बन जाऐ

इस तारीख को यूरोप के डेटा संरक्षण सम्मेलन जिसे कन्वेंशन 108 के रूप में भी जाना जाता है अन्य देशों के हस्ताक्षर के लिए खोला गया | जिसे डाटा सुरक्षा दिवस के रूप में जाना गया।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 28 Jan 2021 10:05 AM GMT

सोशल मीडिया कहीं आपके लिए अभिशाप ना बन जाऐ
X
सोशल मीडिया पर राजीव गुप्ता जनस्नेही का लेख (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Rajiv Gupta Janasnehi

राजीव गुप्ता जनस्नेही

लखनऊ: सोशल मीडिया और इंटरनेट से लैस डिजिटल दुनिया में कोई भी आपकी निजी जिंदगी और प्राइवेसी तक आसानी से पहुंच सकता है |आज के आधुनिक समय में सभी महत्वपूर्ण जानकारियां आपके फ़ोन ,कंप्यूटर या लैपटॉप में मौजूद होती है | एक तरफ जहां यह सब आपके जीवन को गति प्रदान करता है वहीं दूसरी तरफ एक हल्की सी चूक से यह ऑनलाइन मौजूद डेटा आपके लिए खतरा भी बन जाता है । आप के डाटा को सुरक्षित करने के लिए यूरोप की परिषद ने प्रत्येक वर्ष 28 जनवरी को डेटा सुरक्षा दिवस के रूप में शुरुआत की|

ये भी पढ़ें:बंगाल: कांग्रेस और लेफ्ट के बीच बनी बात, यहां जानें कौन कितनी सीटों पर लड़ेगा चुनाव

डेटा संरक्षण सम्मेलन जो इस क्षेत्र की एकमात्र अंतरराष्ट्रीय संधि है

इस तारीख को यूरोप के डेटा संरक्षण सम्मेलन जिसे कन्वेंशन 108 के रूप में भी जाना जाता है अन्य देशों के हस्ताक्षर के लिए खोला गया | जिसे डाटा सुरक्षा दिवस के रूप में जाना गया। डेटा संरक्षण सम्मेलन जो इस क्षेत्र की एकमात्र अंतरराष्ट्रीय संधि है | यह सुनिश्चित करने के लिए आव्हान किया गया कि इससे डेटा सुरक्षा सिद्धांत आज की आवश्यकताओं के अनुरूप रहे । कंटेंट डाटा गोपनीयता दिवस एक अंतरराष्ट्रीय घटना है| दिवस का उद्देश्य जागरूकता बढ़ाने और गोपनीयता और डेटा संरक्षण का सर्वोत्तम प्रथाओं को बढ़ावा देना है |

इन बातों का ध्यान रखना पड़ेगा

यह वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा , इजराइल और 47 यूरोपीय देशों में मनाया जाता है | परिषद के अनुसार अगर हमें अपना डाटा सुरक्षित रखना है तो इन बातों का हमें ध्यान रखना पड़ेगा। आपको अपने कंप्यूटर लैपटॉप टैबलेट और स्मार्टफोन में उस समय का लेटेस्ट सॉफ्टवेयर ही इस्तेमाल करना चाहिए| अपने एप्लीकेशन को नियमित रूप से सुरक्षा सुधारों के लिए अपडेट करें | सुरक्षा के लिए एंटीमैलवेयर सॉफ्टवेयर का प्रयोग करें और एंक्रिप्शन के साथ व्यक्तिगत डेटा को सुरक्षित करें| अपने सभी पासपोर्ट का नियंत्रण रखने के लिए एक पासवर्ड मैनेजर का उपयोग करें ताकि आप एक ही पासवर्ड का दो बार उपयोग ना कर सके|

लंबे पासवर्ड रखने की कोशिश करें क्योंकि इन्हें तोड़ना आसान नहीं रहता है

इसके अलावा लंबे पासवर्ड रखने की कोशिश करें क्योंकि इन्हें तोड़ना आसान नहीं रहता है | यह भी ध्यान रखें कि आपके फोन की लोकेशन ट्रैकिंग हमेशा ओपन ना रहे अपने जन्मदिन सोशल मीडिया पर आपके द्वारा डाली गई सभी व्यक्तिगत जानकारी के बारे में सावधानी बरतें फोन में टेक्स्ट मैसेज या ईमेल को पढ़ने से पहले या उसका रिप्लाई करने से पहले उसका सोर्स देख लें इसमें वायरस की होने की आशंका होती है|कभी भी असुरक्षित वाईफाई का इस्तेमाल नहीं करें किसी भी नई डिवाइस मोबाइल लैपटॉप इत्यादि पर तुरंत अपनी प्राइवेसी सेटिंग दर्ज ना करें|

ये भी पढ़ें:सिंघु बॉर्डर से किसानों ने निकाला सद्भावना मार्च, ग्रामीणों ने लगाए ‘हाईवे खाली करो’ के नारे

डेटा सुरक्षा करना भी एक बहुत बड़ी चुनौती का काम है

अपने एटीएम क्रेडिट कार्ड बैंक स्टेटमेंट का नियमित रूप से जांच करें क्योंकि किसी भी गलत एंट्री लगने पर आप अपने बैंक में तुरंत संपर्क करें अंत में हम यही कहना चाहेंगे कि डेटा संरक्षण दिवस का उद्देश्य है कि आप जीवन को गति देने वाली इन डिवाइसों का अगर सावधानी से इस्तेमाल करेंगे तो आप अपने साथ किसी भी तरीके की अनहोनी और दुखी होने से बचाया जा सकता है | आज के दिन डेटा सुरक्षा करना भी एक बहुत बड़ी चुनौती का काम है| समय-समय पर सरकार प्रशासन पुलिस विभाग और सॉफ्टवेयर इंजीनियरों द्वारा बताई गई सुरक्षित नियमों का ध्यान से पढ़ना चाहिए और उनका पालन करना चाहिए तभी हम डेटा संरक्षण दिवस की उपयोगिता को सिद्ध कर सकेंगे।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story