×

साड़ी के अंदर नकली नारी: गर्लफ्रेंड के लिए प्रेमी बना औरत, दिखाईं इतनी अदाएं, लड़कों ने घेरकर किया ये काम

Nitendra Verma Satire: तो भैया हुआ यूं कि प्रेमी के मन में अपनी प्रेमिका से मिलने की सुरसुरी उठी । देखते ही देखते सुरसुरी सुनामी में बदल गई । बस ये आव देखे न ताव औ पहुँच गये ब्यूटी पार्लर ।

Nitendra Verma

Nitendra VermaWritten By Nitendra VermaShivaniPublished By Shivani

Published on 2 Aug 2021 3:36 AM GMT

Nitendra Verma
X

नितेंन्द्र वर्मा 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Nitendra Verma Satire: तुमसे मिलने को दिल करता है...भैया ये गाना तो सुने ही होंगे । तो बस जईसे इन जनाब का दिल मिलने को कर रहा था वइसे ही ये जनाब भी मिलने को लपलपा रहे थे । अईसी आग भकभकायी कि भैया अच्छा भला आदमी सीधे साड़ी में आये गवा ।

प्रेमिका से मिलने के लिए प्रेमी बना औरत

मामला है अपनी यूपी के भदोही का । तो भैया हुआ यूं कि प्रेमी के मन में अपनी प्रेमिका से मिलने की सुरसुरी उठी । देखते ही देखते सुरसुरी सुनामी में बदल गई । बस ये आव देखे न ताव औ पहुँच गये ब्यूटी पार्लर । इसके बाद टिकुली, बिंदी, लिपिस्टिक, कजरा औ गजरा सजवा लगवा के सुर्ख लाल साड़ी में जैसे ही मैडम पार्लर के बाहर निकली हैं कि भैया यूपी बिहार एकदम हिल गया ।

साड़ी पहन कर प्रेमिका के घर पहुंचा बाॅयफ्रेंड

गोर बदन पे लाल साड़ी, कंधे पे पर्स और पैरों में हाई हील की सैंडल पहने मैडम टिकटॉक टिकटॉक करते जो सड़क पे चली हैं कि भैया जो जहाँ था वहीं रुक गया । मुँह खुले के खुले रह गए । बिजली गिरती इससे पहले ही प्रेमी अपनी प्रेमिका के घर । लेकिन प्रेमी अपनी प्रेमिका से मिल पाता इससे पहिले हे उसकी लचकाती, बलखाती कमरिया और ऊपर से कमसिन उमरिया देख घर के लौंडे टूट पड़े ।


लोगों ने औरत बने प्रेमी का उठाया घूंघट तो उड़े होश

प्रेमी भी कउनो सड़क छाप नहीं । एक्टिंग का भी पूरा कोर्स किये था । कलाइयां घुमा घुमा के उसने घर भर के लौंडों को घुमाने की पूरी कोशिश की । लोग भी समझे कि घूँघटे में सजी कोई नयी नवेली दुल्हन अपनी सहेली से मिलने आई होगी । लेकिन नकली तो नकली ही होता है । कउनो ताड़ गया । बोला हम तो नई दुल्हन का चेहरा देखेंगे । तो कद्दू कटेगा तो सबमें बटेगा की तर्ज पे सब आँखें फाड़ के रेडी हो गए ।

साड़ी के अंदर नकली नारी

प्रेमी समझ गया कि प्रेमिका से मिलन तो होने से रहा सो निकल लेने में ही भलाई है । इत्ते में लौंडे घूँघट खोल दिए । साड़ी के अंदर नकली नारी देख के लोग हैरान हुई गये । तमाम के मचलते अरमानों पे ठंढा पानी पड़ गया । फिर यही लोग मिलके इस नर के अंदर घुसी नारी को जम के बाहर निकाले हैं ।

इससे पहले कि टेम्परेचर ज्यादा बढ़ता प्रेमी रफूचक्कर हो लिया । लेकिन भैया दुनिया बड़ी जालिम है । बेचारा इत्ती मेहनत किया फिर भी अपनी प्रेमिका से न मिल पाया । लेकिन भैया एक बात तो है कि मेकअप भोकाली था ।

Shivani

Shivani

Next Story