राहुल गांधी के कार्यालय पर रेड: मचा हड़कंप, कांग्रेसियों ने लगाए भाजपा पर आरोप

उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में राहुल गांधी के जनसंपर्क कार्यालय पर पुलिस ने छापा मारी की, जिसके बाद इस मामले में राजनीति शुरू हो गयी। कार्यालय पर छापा मारे जाने के बाद कांग्रेस ने सांसद स्मृति ईरानी पर निशाना साधा। हालाँकि जिलाधिकारी ने छापामारी की कार्रवाई से इनकार किया है।

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में राहुल गांधी के जनसंपर्क कार्यालय पर पुलिस ने छापा मारी की, जिसके बाद इस मामले में राजनीति शुरू हो गयी। कार्यालय पर छापा मारे जाने के बाद कांग्रेस ने सांसद स्मृति ईरानी पर निशाना साधा। हालाँकि जिलाधिकारी ने छापामारी की कार्रवाई से इनकार किया है।

अमेठी में राहुल गांधी के जनसंपर्क कार्यालय में पुलिस का छापा

मामला, उत्तर प्रदेश के अमेठी का है, जहां रविवार शाम को तहसीलदार के नेतृत्व में प्रशासन और पुलिस टीम ने गौरीगंज स्थित कांग्रेस कार्यालय पर धावा बोल दिया। टीम सीधे राहुल गांधी के जनसम्पर्क कार्यालय में घुस गयी और तलाशी शुरू कर दी। पुलिस प्रशासन ने वहां रखी राहत सामग्रियों की जांच की और इसके बारे में जानकारी ली।

ये भी पढ़ेंः योगी सरकार का लाॅकडाउन पर बड़ा फैसला, जिलाधिकारियों को मिला ये निर्देश

पूछताछ के बाद टीम वापस चली गयी, हलांकि इस पूरी कार्रवाई के बाद कांग्रेसी नाराज हो गए और प्रकरण में स्मृति ईरानी पर निधाना साधा। एमएलसी दीपक सिंह ट्वीट लिखा, ‘स्मृति ईरानी जी,आप बड़ी भूल कर रही हैं। खुद अपने मंत्रालय से अमेठी को कुछ दिया नहीं, अगर राहुल और प्रियंका जी मदद कर रही हैं तो अधिकारियों से छापा डलवाया जा रहा है। यह सब सामान अमेठी की उस जनता के लिए है जो कांग्रेस के परिवार जैसी है।’

सुरजेवाला ने साधा भाजपा पर निशानाः

वहीं, रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘गौरीगंज जिला कांग्रेस कार्यालय में बिना कारण और बिना वारंट प्रशासन छापा डालने पहुंचा। शायद राहुल गांधी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा अमेठी की जनता को दी जा रही मदद योगी सरकार को हज़म नहीं हुई। राजनीति छोड़ें, मिल कर मदद करें।’

ये भी पढ़ेंः अल्पसंख्यक उत्पीड़न पर भारत की कड़ी प्रतिक्रिया, पाकिस्तान को लगाई फटकार

गंदी राजनीति तो मत करो भाजपाइयों:

यूपी कांग्रेस ने भी भाजपा को निशाना बनाया। उन्होंने कहा, ‘बीजेपी वाले कह रहे हैं कि राहत सामग्री बांटी किनको जा रही है? अंताक्षरी से फुर्सत मिल जाए तब पता चलेगा न! अमेठी के मजदूर फंसे हैं, उसके बारे में भी बीजेपी को नहीं पता है। कांग्रेस ने पहले दिन से अमेठी में सेवा कार्य किया है। कुछ कर नहीं सकते तो ये गंदी राजनीति तो मत करो भाजपाइयों।’

मामले में डीएम अमेठी ने जानकारी से इनकार किया। उन्होंने कहा कि छापे की उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।