×

इस जिले के डीएम की खास पहल, 30 अक्तूबर तक 2400 आशाओं को देंगे बड़ा  तोहफा

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 23 Oct 2018 11:35 AM GMT

इस जिले के डीएम की खास पहल, 30 अक्तूबर तक 2400 आशाओं को देंगे बड़ा  तोहफा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शाहजहांपुर: यूपी के शाहजहांपुर में जिलाधिकारी जिले की 2400 आशाओ कों 30 अक्तूबर तक बड़ा तोहफा देने का फरमान सीएमओ को सुनाया है। डीएम ने आशाओं का सम्मेलन कर उनकी परेशानियों के बारे जाना। वही आशाओं ने भी अपनी दिक्कतों के बारे मे जिलाधिकारी को खुलकर बताया और जिलाधिकारी ने भी उनकी परेशानियों को दूर करने का आश्वासन भी दिया। डीएम का मानना है कि आशाएं गांव की सीएमओ होती है। सरकारी योजनाओं को गांव गांव तक पहुचाने मे आशाओं का बङा योगदान होता है।

ये भी पढ़ें: यूपी टेक्‍सटाइल इंसटीट्यूट का इनोवेशन, खास कपड़े से साफ हो जाएगी गंगा

आशाएं धरना प्रदर्शन करने को थीं मजबूर

दरअसल पिछले लंबे वक्त से आशाओं का मानदेय न मिल पाने के कारण आये दिन आशाओं का धरना प्रदर्शन होता रहता है। यहां तीन दिन पहले कैबिनेट मंत्री के सामने आशाओं ने मानदेय न मिल पाने के कारण उनका घेराव कर दिया था। आशाओं ने आयुष्‍मान भारत के कार्ड बांटने से भी इंकार कर दिया था। जिसके बाद newstrack.com पर प्रमुखता से खबर को चलाया गया था।

ये भी पढ़ें: Job News: मेडिकल अधिकारी के 1000 पदों पर निकली बंपर भर्ती

डीएम ने लिया newstrack.com की खबर का संज्ञान

जिलाधिकारी ने हमारी खबर देखकर सीएमओ आरपी रावत को जरूरी दिशा निर्देश भी दिए थे। जिसके बाद सीएमओ ने खुद फोन करके newstrack.com को फोन करके सफाई भी दी थी। इसी खबर के बाद आज जिलाधिकारी ने आशाओं का एक सम्मेलन करके उनकी दिक्कतों के बारे मे जाना। और आशाओं ने भी खुलकर अपनी परेशानियों के बारे मे बताया। आशाओं की सबसे बङी दिक्कत उनको वक्त से मानदेय न मिल पाना। इन्ही परेशानियों को सुनकर जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने सीएमओ के आदेश दिए कि 30 अक्तूबर तक जिले की 2400 आशाओं का मानदेय देने की कार्यवाही की जाए।

ये भी पढ़ें: अजब लुटेरों की गजब कहानी, नकली रिवाल्‍वर दिखा लूट लेते थे मुर्गियां, अरेस्‍ट

जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने बताया कि गांव गांव मे सरकारी योजनाओं को पहुचाने के लिए आशाएं सीएमओ का काम करती है। जिन आशाओं टीचरों और आंगनबाड़ी कार्यकत्री के घर बिजली का कनेक्शन नही है उनको बिजली का कनेक्शन दिया जाएगा। आशाओं को किसी तरह की परेशानी नही होने दी जाएगी। आज से शुरू हुआ सम्मेलन चार दिन तक चलेगा। 2400 आशाओं मे से आज सिर्फ 500 आशाएं आ पाई थी। इसलिए 2400 आशाओं को बुलाकर उनको ये मैसेज दिया जाएगा।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story