Top

पाकिस्तान जिंदाबाद बोलने वाले को गोली मारने का कानून: मंत्री जी ने दिया बयान

कर्नाटक के मंत्री बीसी पाटिल ने केंद्र की मोदी सरकार से मांग की है कि ऐसे लोगों को तुरंत गोली मारने का कानून बनाया जाए, जो पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी करते हैं।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 24 Feb 2020 8:03 AM GMT

पाकिस्तान जिंदाबाद बोलने वाले को गोली मारने का कानून: मंत्री जी ने दिया बयान
X
पाकिस्तान जिंदाबाद बोलने वाले को गोली मारने का कानून: मंत्री जी ने दिया बयान
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कर्नाटक के मंत्री बीसी पाटिल ने केंद्र की मोदी सरकार से मांग की है कि ऐसे लोगों को तुरंत गोली मारने का कानून बनाया जाए, जो पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी करते हैं। चित्रदुर्ग में बीसी पाटिल ने कहा कि देश के खिलाफ देश के खिलाफ बयानबाजी करने वालों और पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी करने वालों के खिलाफ ऐसा केंद्रीय कानून होना चाहिए, जिसके तहत ऐेसे लोगों को गोली मारी जा सके। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ शूट एट साइट कानून बनाने की बेहद जरूरत है। इस कानून की बहुत आवश्यकता है।

गद्दारों से निपटने के लिए बनाएं सख्त कानून

उन्होंने कहा कि भारत का अन्न खाते हैं, भारत का पानी पीते हैं, सांस यहां लेते हैं, लेकिन अगर पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाते हैं तो यहां पर क्यों हैं? बीसी पाटिल ने आगे कहा कि चीन के नागरिक अपने देश के खिलाफ कुछ भी बोलने से पहले डरते हैं। उन्होंने पीएम मोदी से गद्दारों से निपटने के लिए सख्त कानून बनाने की अपील की है।

यह भी पढ़ें: इधर ट्रंप का भारत दौरा, उधर PM का इस्तीफा, कश्मीर-CAA पर बोलना पड़ा भारी

ओवैसी की रैली में महिला ने की थी ये नारेबाजी

दरअसल, 20 फऱवरी को कर्नाटक के बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी एए-एनआरसी के खिलाफ ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की रैली में एक महिला ने मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे। उस लड़की का नाम अमूल्या लियोना है। फिलहाल अमूल्या इस घटना के बाद 14 दिन की पुलिस रिमांड पर है।

महिला को सेव कॉन्स्टिट्यूशन नाम की संस्था की तरफ से मंच पर बोलने के लिए बुलाया गया था। मंच पर पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाते ही ओवैसी समेत मंच पर मौजूद सभी लोग उससे माइक वापस लेने के लिए आगे बढ़े। महिला इसके बाद भी मंच से नारेबाजी करती रही। बाद में पुलिस की मदद से उसे नीचे उतारा गया।

यह भी पढ़ें: इधर ट्रंप का भारत दौरा, उधर PM का इस्तीफा, कश्मीर-CAA पर बोलना पड़ा भारी

ओवैसी ने कहा कि...

घटना के बाद ओवैसी ने कहा- मैं इस घटना की निंदा करता हूं। वो महिला हमारे साथ जुड़ी हुई नहीं है। हमारे लिए भारत जिंदाबाद था, जिंदाबाद रहेगा। ओवैसी ने कहा कि आयोजकों को इस महिला को नहीं बुलाना चाहिए था। यदि मुझे यह बात पता होती, तो मैं इस रैली में शामिल होने नहीं आता। हम लोग भारत के लिए हैं और किसी भी तरह दुश्मन देश पाकिस्तान का समर्थन नहीं करते।

हमारी पूरी मुहिम भारत को बचाने के लिए है। मंच पर ही मौजूद जनता दल (एस) के कॉर्पोरेटर इमरान पाशा ने कहा कि महिला को किसी विरोधी समूह ने भेजा होगा। उसका नाम बोलने वालों की लिस्ट में शामिल नहीं था। पुलिस को गंभीरता से मामले की जांच करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: शेयर: बाजार के खुलते ही 445 अंक लुढ़का सेंसेक्स, 12,000 के नीचे पहुंचा निफ्टी

Shreya

Shreya

Next Story