Top

उत्तर भारतीयों को अयोग्य बताने पर बुरे फंसे ये नेता, विपक्षी दलों ने लिया निशाने पर

टवीटर पर छिड़ी इस जंग में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि मंत्री जी पांच साल से ज्यादा आपकी सरकार है। नौकरियां पैदा नहीं हुई। जो नौकरियां थी, वह सरकार द्वारा लायी गई आर्थिक मंदी के चलते छिन रही हैं। नौजवान रास्ता देख रहे है कि सरकार कुछ अच्छा करे।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 15 Sep 2019 2:41 PM GMT

उत्तर भारतीयों को अयोग्य बताने पर बुरे फंसे ये नेता, विपक्षी दलों ने लिया निशाने पर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार द्वारा उत्तर भारतीयों को अयोग्य बताने पर विपक्षी दलों के निशाने पर आ गये है। संतोष गंगवार द्वारा टवीट करके दिए गये इस बयान को विपक्षी दलों ने शर्मनाक बताते हुए केंद्रीय मंत्री से देश से माफी मांगने की मांग की है। इधर विपक्षी दलों के हमले के बाद गंगवार ने कहा है कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। वह रोजगार के लिए जरूरी कौशल की बात कर रहे थे ।

ये भी देखें : अच्छी खबर! अब खराब नहीं होगा साइलो स्टोरेज में रखा अनाज

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा....

टवीटर पर छिड़ी इस जंग में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि मंत्री जी पांच साल से ज्यादा आपकी सरकार है। नौकरियां पैदा नहीं हुई। जो नौकरियां थी, वह सरकार द्वारा लायी गई आर्थिक मंदी के चलते छिन रही हैं। नौजवान रास्ता देख रहे है कि सरकार कुछ अच्छा करे। प्रियंका ने कहा कि मंत्री जी आप उत्तर भारतीयों का अपमान करके बच निकलना चाहते है, यह नहीं चलेगा।

ये भी देखें : सबके लिए एक-जैसा कानून

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमों मायावती ने ट्विट कर कहा...

दोपहर करीब साढे़ बारह बजे प्रियंका के इस टवीट के बाद बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमों मायावती ने अपरान्ह करीब ढ़ाई बजे अपने टवीटर हैंडल से संतोष गंगवार से टवीट किया कि देश में छाई आर्थिक मंदी आदि की गंभीर समस्या पर केंद्रीय मंत्रियों के अलग-अलग हास्यास्पद बयानों के बाद अब देश व खासकर उत्तर भारतीयों की बेरोजगारी दूर करने के बजाए यह कहना कि रोजगार की कमी नहीं है बल्कि योग्यता की कमी है। अति शर्मनाक है जिसके लिए उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए।

ये भी देखें : कंडक्टर मां के बेटे का कमाल, भारत की झोली में डाल दिया एशिया कप

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी टवीट किया...

इसके बाद बरेली-रामपुर के तीन दिवसीय दौरे पर निकले समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी केंद्रीय मंत्री को घेरते हुए टवीट किया कि भाजपा के मंत्री ने यह कह कर युवाओं का मनोबल तोड़ा है कि देश में रोजगार की नहीं बल्कि काबिल युवाओं की कमी है। अगर एक क्षण को यह झूठी बात मान भी ले तो क्या युवाओं को काबिल बनाने का दायित्व सरकार का नही है। उन्होंने कहा कि दरअसल, कमी काबिल युवाओं की नहीं देश-प्रदेश में काबिल सरकार की है।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story