Top

BJP नेता की बड़ी मांग, रेप के इस दोषी को सरकार करें जेल से रिहा

कोरोना वायरस को भारत की जेलों तक पहुँचने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश समेत कई राज्य सरकारों ने प्रदेशों की जेलों से कैदियों की पैरोल पर रिहाई की है। ऐसे में अब नाबालिग संग दुष्कर्म मामले में दोषी आसाराम बाबू की रिहाई की भी मांग उठी है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 30 March 2020 4:53 PM GMT

BJP नेता की बड़ी मांग, रेप के इस दोषी को सरकार करें जेल से रिहा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जोधपुर: कोरोना वायरस को भारत की जेलों तक पहुँचने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश समेत कई राज्य सरकारों ने प्रदेशों की जेलों से कैदियों की पैरोल पर रिहाई की है। ऐसे में अब नाबालिग संग दुष्कर्म मामले में दोषी आसाराम बाबू की रिहाई की भी मांग उठी है। ये मांग भाजपा के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने उठाई है।

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने आसाराम बाबू की रिहाई की उठाई मांग

दरअसल, भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने सरकार से यह मांग की है कि आसाराम बापू को भी रिहा कर दिया जाए। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा,'अगर सजायाफ्ता कैदियों को सरकार की ओर से रिहा किया जा रहा है, तो गलत तरीके से दोषी पाए गए और 85 वर्षीय बीमार आसाराम बापू को पहले रिहा किया जाना चाहिए।'

ये भी पढ़ेंः रिलायंस का बड़ा एलान: पीएम केयर फंड में किया इतने करोड़ का दान



नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी आसाराम जोधपुर जेल में बंद

बता दें कि आसाराम नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी हैं और राजस्थान के जोधपुर की सेंट्रल जेल में सजा काट रहे हैं। ऐसे में सुब्रह्मण्यम स्वामी ने आसाराम की उम्र और बीमारी का हवाला देते हुए रिहाई की मांग की है।

ये भी पढ़ेंःयहां 300 कोरोना संक्रमित! पूरे इलाके की घेराबंदी, डॉक्टर-WHO की टीम मौजूद

आसाराम और उसकी बेटी पर एक और मुकदमा दर्ज, पीड़िता को बदनाम करने का आरोप

SC के आदेश के बाद कई जेलों से कैदी किये गए रिहा

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट ने 7 साल से कम की सजा काट रहे कैदियों की पैरोल पर रिहाई का आदेश दिया था। जिसके बाद तिहाड़ जेल ने कई कैदियों को जमानत पर रिहा किया गया। तो वहीं योगी सरकार ने भी प्रदेश की कई जेलों में बंद 11 हजार कैदियों को 8 सप्ताह की पैरोल पर जेल से आजाद कर दिया।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story