Top

सांसद मनोज तिवारी ने राहुल गांधी को क्यों कहा चीन का एजेंट? यहां जानें पूरी बात

राहुल गांधी ने कहा, "कड़ी मेहनत के बाद भारतीय सेना ने जो कुछ हासिल किया, अब उनसे क्‍यों पीछे हटने को कहा गया है? इसके बदले भारत को क्‍या मिला है?

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 12 Feb 2021 9:16 AM GMT

सांसद मनोज तिवारी ने राहुल गांधी को क्यों कहा चीन का एजेंट? यहां जानें पूरी बात
X
राहुल गांधी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत की जमीन चीन को सौंप दी है। हमारी सेनाएं तो तैयार हैं, पर मोदी चीन के सामने खड़े होने को तैयार नहीं हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: बीजेपी नेता और लोकसभा सांसद मनोज तिवारी ने राहुल गांधी के चीन को लेकर दिए गए बयान पर पलटवार किया है।

मनोज तिवारी ने तंज कसते हुए कहा है कि उनके आरोपों से यह साबित हो गया है कि वह चीन के एजेंट है। जब सीमा पर चीन की सेना को पीछे हटना पड़ा चीन को अपने टैंक वापस बुलाने पड़े तब राहुल गांधी को दर्द महसूस हुआ।

बता दें कि राहुल गांधी ने शुक्रवार को चीन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन्हें कायर कहा था।

इन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव पर बड़ी खबर, अगले सप्ताह होगा तरीखों का ऐलान

india china army सांसद मनोज तिवारी ने राहुल गांधी को क्यों कहा चीन का एजेंट? यहां जानें पूरी बात (फोटो:सोशल मीडिया)

मनोज तिवारी ने राहुल गांधी के लिए और क्या कहा?

मनोज तिवारी ने कहा 'पीएम नरेंद्र मोदी और भारतीय सेना के कारण चीन को पीछे हटना पड़ा। उसे अपने टैंक वापस बुलाने पड़े तब राहुल गांधी पीएम को फायर कैसे कर सकते हैं। देश की जनता और देश की सेना का अपमान है और देश की जनता उन्हें सबक सिखाएगी।

उन्होंने ये भी कहा कि उनके(राहुल) कारण पप्पू नाम वाले लोग अपना नाम बदल रहे हैं। आज राहुल के कारण पप्पू नाम मूर्खता का परिचय हो गया है।

राहुल ने चीन को लेकर दिया था ये बयान?

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को कायर बताते हुए कहा कि वह सेना के बलिदान पर थूक रहे हैं। पैंगोंग झील इलाके में हमारे सैनिक फिंगर 3 पर तैनात रहेंगे, जबकि हमारा इलाका फिंगर 4 है।

पीएम मोदी ने भारत की जमीन चीन को सौंप दी है। हमारी सेनाएं तो तैयार हैं, पर मोदी चीन के सामने खड़े होने को तैयार नहीं हैं।

राहुल ने बॉर्डर से डिसइंगेजमेंट पर सवाल उठाते हुए कहा कि इससे भारत को कुछ हासिल नहीं हुआ। उन्‍होंने पूछा कि मजबूत स्थिति में पहुंच जाने के बाद सेना को पीछे हटने के लिए क्‍यों कहा गया है।

ये भी पढ़ें- हमें एक मजबूत प्लेयर के रूप में उभरकर निकलना होगा: पीएम मोदी

lac army सांसद मनोज तिवारी ने राहुल गांधी को क्यों कहा चीन का एजेंट? यहां जानें पूरी बात (फोटो:सोशल मीडिया)

देपसांग प्‍लेन्‍स में चीनी पीछे क्‍यों नहीं हटे हैं: राहुल

राहुल ने कहा, "कड़ी मेहनत के बाद भारतीय सेना ने जो कुछ हासिल किया, अब उनसे क्‍यों पीछे हटने को कहा गया है? इसके बदले भारत को क्‍या मिला है? सबसे जरूरी बात ये है कि देपसांग प्‍लेन्‍स में चीनी पीछे क्‍यों नहीं हटे हैं?

वे गोगरा और हॉट स्प्रिंग्‍स से पीछे क्‍यों नहीं गए हैं? हिंदुस्‍तान की पवित्र जमीन नरेंद्र मोदी ने चीन को पकड़ाई है। ये सच्‍चाई है।

यह भी पढ़ें: ‘ममता दी’ ने गृहमंत्री से पूछा- श्रीमान शाह, आपके बेटे को इतने पैसे कहां से मिलते हैं?

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story