Top

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा-शिवसेना में सीट बंटवारे को लेकर घमासान

महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच एक बार फिर सीट बंटवारे को लेकर घमासान होता नजर आ रहा है। हाल ही में महाराष्ट्र सरकार में मंत्री दिवाकर राओते का बयान सामने आया था जिसमें उन्होंने कहा था कि 'शिवसेना को अगर 288 में से 144 सीट नहीं मिलती हैं तो गठबंधन टूट सकता है।'

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 19 Sep 2019 6:22 AM GMT

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा-शिवसेना में सीट बंटवारे को लेकर घमासान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच एक बार फिर सीट बंटवारे को लेकर घमासान होता नजर आ रहा है।

हाल ही में महाराष्ट्र सरकार में मंत्री दिवाकर राओते का बयान सामने आया था जिसमें उन्होंने कहा था कि 'शिवसेना को अगर 288 में से 144 सीट नहीं मिलती हैं तो गठबंधन टूट सकता है। राओते के इस बयान के बाद शिवसेना की ओर से संजय राउत ने प्रतिक्रिया दी है।

संजय राउत ने कहा कि 'अगर अमित शाह जी और सीएम के सामने 50-50 परसेंट सीट शेयरिंग फॉर्मूला तय किया गया था तो क्या यह बयान गलत नहीं है। चुनाव साथ लड़ेंगे, क्यों नहीं लड़ेंगे।

ये भी पढ़ें...शिवसेना ने नेहरू की तारीफ में कही ऐसी बात, बीजेपी में मच सकती है खलबली

शिवसेना 135 सीटों पर खड़ा करना चाहती है उम्मीदवार

288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में शिवसेना 135 सीटों पर अपने उम्मीनदवार उतारना चाहती है।

साथ ही वह यह भी चाहती है कि बीजेपी भी इतनी ही सीटों पर चुनाव लड़े। बीजेपी की सहयोगी पार्टी बाकी की 18 सीटें सहयोगियों को देने की बात कह रही है।

बीजेपी को शिवसेना का फॉर्मूला मंजूर नहीं

शिवसेना के इस समीकरण को बीजेपी स्वीकार नहीं कर रही है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि वह शिवसेना को 120 से ज्यादा सीटें नहीं देना चाहती है।

बताया जाता है कि इसी साल फरवरी में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और उद्धव ठाकरे के बीच हुई एक बैठक में विधानसभा चुनाव में बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने की बात पर सहमति बनी थी।

ये भी पढ़ें...महाराष्ट्र: NCP को झटका, सचिन अहीर शिवसेना में शामिल

शिवसेना राम मन्दिर मुद्दे पर बीजेपी को हमलावर

शिवसेना राम मन्दिर बनाने की मांग और कांग्रेस-एनसीपी के नेताओं को पार्टी में शामिल करने जैसे मुद्दों को लेकर बीजेपी को घेर रही है। लेकिन, बीजेपी इस मामले में यह कहकर अपना बचाव कर रही है कि शिवसेना सीटों पर मोलभाव को लेकर यह दाव खेल रही है।

ये भी पढ़ें...महाराष्ट्र: देवेन्द्र फणडवीस के हेलिकॉप्टर की क्रैश लैंडिंग, CM और टीम सुरक्षित

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story