शिवसेना ने नेहरू की तारीफ में कही ऐसी बात, बीजेपी में मच सकती है खलबली

शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने संसदीय लोकतंत्र का सम्मान करने के लिए देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और कांग्रेस पार्टी की सराहना की है।

पुणे:  शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने संसदीय लोकतंत्र का सम्मान करने के लिए देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और कांग्रेस पार्टी की सराहना की है।

साथ ही उन्होंने मौजूदा परिदृश्य में विपक्षी पार्टी के अस्तित्व को लेकर भी सवाल खड़ा किया। उन्होंने कहा कि विपक्ष की अनुपस्थिति किसी देश की राजनीति को मनमाना और एकतरफा बना देती है।

ये भी पढ़ें…बारिश से बेहाल मुंबई के हालात के लिए शिवसेना ने पिछली कांग्रेस सरकार को ठहराया जिम्मेदार

नेहरू ने संसदीय लोकतंत्र में शिष्टाचार बनाए रखा

संजय राउत ने कहा, ‘‘जवाहरलाल नेहरू और कांग्रेस के बारे में मतभेद हो सकते हैं लेकिन उन्होंने संसदीय लोकतंत्र में शिष्टाचार को बनाये रखा है।

वह कांग्रेस ही थी जो आजादी के बाद संसद में शिष्टाचार और परंपराओं से संबंधित कुछ नियम लेकर आयी।’’ राउत ने कार्य मंत्रणा समिति (बीएसी) के गठन के लिए कांग्रेस को श्रेय भी दिया।

शिवसेना नेता ने कहा, ‘‘वह जवाहरलाल नेहरू थे जिन्होंने देश में विपक्षी दल के महत्व को पहचाना। जब शुरू में विपक्षी दल कमजोर था, तो वह कहते थे कि उन्हें प्रधानमंत्री की भूमिका निभाने के साथ-साथ विपक्ष के नेता की भूमिका भी निभानी होगी।”

राउत ने कहा कि यहां तक कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी नेहरू के नक्शेकदम पर चलते थे। उन्होंने कहा, ‘‘यदि कोई विपक्षी दल नहीं है तो देश का लोकतंत्र कमजोर हो जाता है और राजनीति मनमानी और एकतरफा हो जाती है।’’

ये भी पढ़ें…जानें मुस्लिम लीग ने क्या कहा और शिवसेना वापस जाओ का नारा क्यों लगाया 

सामना में शिवसेना नेता ने लिखा

संजय राउत ने लिखा, ‘‘मराठवाडा में पानी की कमी अनुच्छेद 370 को हटाये जाने के समान ही महत्वपूर्ण है लेकिन कोई भी इस विशेष मुद्दे का हवाला देते हुए पार्टी नहीं छोड़ रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भले ही हर जगह सूखा हो, लेकिन बीजेपी और शिवसेना में अन्य दलों के नेताओं का तांता लगा हुआ है।

राजनीति एक कठिन कला है लेकिन अब कुछ लोगों ने इसे सरल बना दिया है।’’ शिवसेना नेता संजय रावत के बयान से साफ जाहिर है कि दल-बदल करने वाले नेताओं में अनेक सिर्फ अपने हित के लिए एक पार्टी छोड़ दूसरे में शामिल हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें…एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा शिवसेना में शामिल, नालासोपारा से लड़ सकते हैं चुनाव