Top

फानी से बर्बाद फसल के आकलन के लिए जल्द ओडिशा का दौरा करेगा केंद्रीय दल

अधिकारी ने कहा, "एक दल का गठन किया गया है जो एक या दो दिन के भीतर नुकसान की मात्रा का आकलन करने के लिए ओडिशा रवाना होगा।" उन्होंने कहा कि एक सप्ताह पहले राज्य के तटीय जिलों में आए अत्यधिक भीषण चक्रवात में हजारों नारियल और आम के पेड़ उखड़ गए हैं। यहां तक कि तटीय क्षेत्रों में कृषि भूमि साफ हो गयी है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 10 May 2019 10:41 AM GMT

फानी से बर्बाद फसल के आकलन के लिए जल्द ओडिशा का दौरा करेगा केंद्रीय दल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नयी दिल्ली: ओडिशा में आये चक्रवात फानी से बुरी तरह प्रभावित क्षेत्रों में कृषि एवं बागवानी फसलों की बर्बादी का आकलन करने के लिए एक केंद्रीय दल एक-दो दिन में राज्य का दौरा करेगा। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

ये भी देंखे:आईफोन के बारे में जानिए ये 6 फाडू फैक्ट्स, पहला वाला इंडिया आया नहीं

अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, "एक दल का गठन किया गया है जो एक या दो दिन के भीतर नुकसान की मात्रा का आकलन करने के लिए ओडिशा रवाना होगा।" उन्होंने कहा कि एक सप्ताह पहले राज्य के तटीय जिलों में आए अत्यधिक भीषण चक्रवात में हजारों नारियल और आम के पेड़ उखड़ गए हैं। यहां तक कि तटीय क्षेत्रों में कृषि भूमि साफ हो गयी है।

राज्य सरकार के प्रारंभिक आकलन के अनुसार, चक्रवात के कारण ओडिशा में 30 प्रतिशत से अधिक फसल खराब हो गयी है।

रपट में कहा गया है कि राज्य के 14 जिलों में 1,00,000 हेक्टेयर से अधिक कृषि भूमि बुरी तरह प्रभावित हुई है।

ये भी देंखे:राजनीति में झूठे प्रचार और नकारात्मकता को अपनी आदत ना बनाएं : प्रियंका

केंद्र सरकार के अधिकारी ने यह भी उल्लेख किया है कि टीम आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल का दौरा नहीं कर सकती है क्योंकि इन दोनों राज्यों में बहुत अधिक नुकसान नहीं हुआ है।

ओडिशा के मामले में, राज्य अभी भी चक्रवाती तूफान के बाद के प्रभावों की चपेट में है; और पूरी राज्य मशीनरी व्यवस्था को सामान्य बनाने के कठिन काम में लगी है।

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story