Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बिहार पंचायत चुनाव: Election में जरूरी नहीं ये दस्तावेज, इनकी बढ़ीं मुश्किलें

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा स्पष्ट किया गया है कि पंचायत चुनाव के लिए चरित्र सत्यापन प्रमाण पत्र की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके साथ ही आयोग ने भ्रष्टाचार सहित 11 मामलों से जुड़े लोगों के चुनाव लड़ने पर पाबंदी लगा दी है। 

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 12 March 2021 7:55 AM GMT

बिहार पंचायत चुनाव: Election में जरूरी नहीं ये दस्तावेज, इनकी बढ़ीं मुश्किलें
X
बिहार पंचायत चुनाव: Election में जरूरी नहीं ये दस्तावेज, इनकी बढ़ीं मुश्किलें
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार पंचायत चुनाव (Bihar Panchyat Election 2021) से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है। दरअसल, राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा स्पष्ट किया गया है कि पंचायत चुनाव के लिए चरित्र सत्यापन प्रमाण पत्र की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी। आयोग ने किसी भी अफवाहों से बचने के लिए यह निर्देश दिया है।

आयोग ने किया स्पष्ट

दरअसल, थाने में इन दिनों चुनाव लड़ने वाले संभावित प्रत्याशियों की चरित्र सत्यापन के लिए भीड़ उमड़ रही थी। ऐसे में आयोग द्वारा यह निर्देश जारी किया गया है कि बिहार पंचायत चुनाव के लिए चरित्र सत्यापन प्रमाण पत्र की कोई आवश्यकता नहीं है।

यह भी पढ़ें: तेजस्वी ने क्यों कहा- नीतीश कुमार हैं बिहार के असली शराब माफिया, यहां जानें

भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों बढ़ीं मुश्किलें

इसके अलावा अब भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों की भी मुश्किलें बढ़ गई हैं। क्योंकि आयोग ने भ्रष्टाचार सहित 11 मामलों से जुड़े लोगों के चुनाव लड़ने पर पाबंदी लगा दी है। चुनाव में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से निर्वाचन आयोग ने निर्देश दिया है कि कोई भी व्यक्ति जिसे किसी भी अपराध के लिए छह महीने या उससे ज्यादा की सजा हो चुकी हो, उसे चुनाव लड़ने के लिए आयोग्य माना गया है।

bihar election commission (फोटो- सोशल मीडिया)

इन्हें माना गया है आयोग्य

निर्वाचन आयोग के निर्देशों के मुताबिक, यदि कोई व्यक्ति भारतीय नागरिक नहीं है या चुनाव संबंधी कानून के तहत अयोग्य घोषित कर दिया गया है तो उसे भी चुनाव लड़ने के लिए आयोग्य माना गया है। आयोग के इस नए गाइडलाइन के बाद भ्रष्टाचार में लिप्त कई लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

यह भी पढ़ें: मैथमेटक्स गुरु ने गीतकार संतोष आनंद के घर में बिताए दो दिन, बोले- हमेशा रहेंगे याद

पुलिस मुख्यालय ने भी दिए जरूरी निर्देश

वहीं, पंचायत चुनाव के मद्देनरज पुलिस मुख्यालय ने भी जरूरी कार्रवाई का निर्देश दिया है। ADG लॉ एंड ऑर्डर ने सारण प्रमंडल के सभी जिलों के डीएम और एसपी को चुनाव में हुई घटनाओं और साम्प्रदायिक घटनाओं में शामिल रहे अपराधियों पर कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया है। साथ ही उनके खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई करने की भी बात कही गई है।

bihar panchayat chunaav (फोटो- सोशल मीडिया)

संवेदनशील बूथों पर होगी विशेष सुरक्षा व्यवस्था

इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि चुनाव से जुड़े लंबित मामलों का जल्द निष्पादन किया जाये। वहीं, जाये। पंचायत चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए तैयारी पूरी करने पर भी जोर दिया गया है। साथ ही संवेदनशील बूथों पर विशेष सुरक्षा की व्यवस्था करने की बात कही गई है।

आपको बता दें कि बिहार में पहली बार पंचायत चुनाव (Bihar Panchyat Election) ईवीएम से होने जा रहे हैं। यही नहीं यहां पर पंचायत चुनाव में पहली बार चरणवार आदर्श आचार संहिता लागू की जाएगी। इससे पहले के पंचायत चुनाव में एक साथ पूरे राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू हो जाती थी।

यह भी पढ़ें: महाशिवरात्रि पर आतंकी हमला: मंदिरों-शिवालयों में भीड़ है निशाना, हाई-अलर्ट जारी

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story