×

कांग्रेस में 'गद्दार': आवाज उठाने वालों को मिला 'जयचंद' का तमगा, दुखी हुए वरिष्ठ नेता

कांग्रेस नेतृत्व पर चिट्ठी लिखने वाले नेताओं की आलोचना होने पर कपिल सिब्बल ने अफ़सोस जताया। उन्होंने कहा कि आवाज उठाने वालों को 'जयचंद' और 'गद्दार' कहा गया।

Shivani
Updated on: 29 Aug 2020 1:57 PM GMT
कांग्रेस में गद्दार: आवाज उठाने वालों को मिला जयचंद का तमगा, दुखी हुए वरिष्ठ नेता
X
कांग्रेस नेतृत्व पर चिट्ठी लिखने वाले नेताओं की आलोचना होने पर कपिल सिब्बल ने अफ़सोस जताया। उन्होंने कहा कि आवाज उठाने वालों को 'जयचंद' और 'गद्दार' कहा गया।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कांग्रेस के नेतृत्व को लेकर वरिष्ठ नेताओं के चिट्ठी विवाद के बाद घमासान लगातार जारी है। चिट्ठी लिखने वाले नेताओं की आलोचना होने पर वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने अफ़सोस जताया। उन्होंने कहा कि आवाज उठाने वालों को यहां 'जयचंद' और 'गद्दार' कहा जाता है।उन्होंने चिट्ठी में सहमति देने वाले और हस्ताक्षर करने वाले नेताओं का पक्ष लेते हुए कहा कि उन्होंने पूरी शिद्द्त से अपनी बात कही लेकिन इसे पार्टी विरोधी करार दे दिया गया।

कांग्रेस को रिवाइवल प्लान की जरूरत :

कपिल सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस को अब बदलने की जरूरत है। पार्टी के रिवाइवल प्लान के लिए कुछ अहम मुद्दों को चिट्ठी में उठाया गया। कांग्रेस ऐतिहासिक तौर पर काफी निचले पायदान पर आ गयी है। ऐसे में ये चिट्ठी बदलाव और पार्टी को सही दिशा में ले जाने के लिए लिखी गयी थी, लेकिन लोगो ने ये चिट्ठी बिना पढ़े मनगढ़त बाटे बना दी। अगर चिट्ठी पढ़ते तो समझ आता कि ये किसी को निचा दिखाने या गाँधी परिवार की छवि खराब करने के लिए नहीं लिखी गयी थी।

Sonia Gandhi

हमने नेतृत्व की तारीख की

उन्होंने कहा कि चिट्ठी में हमने नेतृत्व की तारीख की। सोनिया गांधी के योगदान को सराहा लेकिन अब कुछ बदलाव की जरूरत है, जिसका सुझाव दिया गया।

ये भी पढ़ेंः कोरोना वैक्सीन हराम: मुस्लिम रहें इससे दूर, इमाम लोगों से कर रहा ये अपील

सिब्बल ने कहा है कि पार्टी की प्रतिष्ठा को लेकर हमने 30 साल तक काम किया। मै कांग्रेस के संविधान से पूरी तरीके से परिचित हूँ। पत्र में जिन मुद्दों पर चर्चा हुई, वो अब तक कभी नहीं हुआ था। ऐसे में इसपर विचार की जरूरत है। हमारी ड्यूटी है कि हम पार्टी के संविधान का पालन करें। सिब्बल में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की मीटिंग में पत्र पर हुई आलोचना पर दुःख व्यक्त किया।

Congress crisis_ senior leader kapil sibal statement over leadership letter sonia gandhi

चिट्ठी पर हस्ताक्षर करने वालों को गद्दार कहा

उन्होंने कहा कि चिठ्ठी की मंशा को गलत समझते हुए 'जयचंद' जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया। चिट्ठी पर हस्ताक्षर करने वालों को गद्दार बताने से पहले उन्हें पत्र की भाषा और शब्द देखने चाहिए था, तब उन्हें पता चलता है कि ये चिट्ठी कांग्रेस को मजबूत करने और पार्टी में नई ऊर्जा भरने को लेकर है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani

Shivani

Next Story