Top

"सरकार बनी तो कर्ज ना चुकाने पर किसी किसान को जेल में नहीं डाला जायेगा": राहुल गांधी

राहुल ने रीवा में एक चुनावी रैली को सम्बोधित करते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में लिख दिया है कि 2019 का चुनाव जीतने के बाद रीवा, मध्यप्रदेश, हिन्दुस्तान का किसान कर्ज न लौटाने के लिये जेल में नहीं डाला जा सकता है।’’

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 3 May 2019 9:38 AM GMT

सरकार बनी तो कर्ज ना चुकाने पर किसी किसान को जेल में नहीं डाला जायेगा: राहुल गांधी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रीवा, (मप्र) : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि केन्द्र में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद देश का कोई किसान बैंक का कर्ज अदा नहीं करने के कारण जेल नहीं जायेगा।

ये भी देंखे:मायावती की PM की दावेदारी के लिए अहम है छठा व सातवां चरण

राहुल ने रीवा में एक चुनावी रैली को सम्बोधित करते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में लिख दिया है कि 2019 का चुनाव जीतने के बाद रीवा, मध्यप्रदेश, हिन्दुस्तान का किसान कर्ज न लौटाने के लिये जेल में नहीं डाला जा सकता है।’’

रीवा लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार 24 वर्षीय सिद्धार्थ तिवारी हैं जबकि उनके सामने भाजपा के सांसद जनार्दन मिश्रा मैंदान में हैं। मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव के मतदान के दूसरे चरण में छह मई को रीवा में मतदान होगा।

राहुल गांधी ने लोगों से वादा किया कि केन्द्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर एक साल में 22 लाख युवाओं को सरकारी क्षेत्र में तथा 10 लाख युवाओं को पंचायतों में नौकरियां दी जायेगीं। इसके साथ ही उन्होने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर युवाओं को नये व्यवसाय शुरु करने के लिये तीन वर्ष तक किसी प्रकार की अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं होगी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने नोटबंदी और जीएसटी के कारण देश में रोजगार और अर्थव्वस्था चोपट होने का आरोप लगाते हुए पार्टी की प्रस्तावित न्यूनतम आय योजना :न्याय: को देश से गरीबी खतम करने वाली योजना बताया।

ये भी देंखे:‘विराट कोहली’ को नया खिताब : ‘द मेकिंग ऑफ अ चैंपियन’

उन्होने कहा कि यह योजना देश की अर्थव्यवस्था का इंजन होगी क्योंकि इससे गरीबों को पैसा मिलेगा, इससे उनकी क्रय शक्ति बढ़ेगी और देश में व्यवसाय को बढ़ावा मिलेगा।

उन्होने कहा कि 15 लाख रुपये खाते में आने की बात तो एक जुमला निकली लेकिन कांग्रेस की न्याय योजना के माध्यम से देश के 5 करोड़ गरीब परिवारों को प्रतिवर्ष 72,000 रुपये के हिसाब से पांच साल में 3.60 लाख रुपये परिवार की महिला के बैंक खाते में दिये जायेगें।

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story