Top

छिंदवाड़ा में पिता-पुत्र की जोड़ी पर रहेगी सबकी नजर

कमलनाथ जहां राजनीति के मंझे हुए खिलाड़ी हैं वहीं नुकल पहली बार चुनावी मैदान में उतरे हैं। गौरतलब है कि कमलनाथ 40 साल के अपने राजनीतिक करियर में पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 28 April 2019 12:10 PM GMT

छिंदवाड़ा में पिता-पुत्र की जोड़ी पर रहेगी सबकी नजर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

छिंदवाड़ा: मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके बेटे नकुल मैदान में हैं और पिता-बेटे की इस जोड़ी के राज्य में कांग्रेस को मजबूती देने पर सबकी नजरे बनी हुई है।

ये भी देखें:एक राष्ट्रपति जो हमेशा रहता था नशे में, उसे चाहिए थीं सिर्फ कमसिन लड़कियां

नौ बार सांसद रहे कमलनाथ क्षेत्र में विधानसभा उपचुनाव लड़ रहे हैं वहीं नकुल पिता की छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से मैदान में हैं।

कमलनाथ जहां राजनीति के मंझे हुए खिलाड़ी हैं वहीं नुकल पहली बार चुनावी मैदान में उतरे हैं। गौरतलब है कि कमलनाथ 40 साल के अपने राजनीतिक करियर में पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं।

मुख्यमंत्री पद ग्रहण करने के बाद कांग्रेस के इस वरिष्ठ नेता के लिए विधानसभा चुनाव जीतना आवश्यक हो गया है।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा ने बताया कि लोकसभा के लिए 14 और विधानसभा के लिए नौ उम्मीदवार मैदान में हैं।

ये भी देखें:गरीबी की मारी ‘समांथा रुथ प्रभु’, बनी टॉलीवुड की सफल अभिनेत्री

शर्मा ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि सोमवार को होने वाले पांचवे चरण के मतदान के लिए सभी इंतजाम किए गए हैं ताकि छिंदवाड़ा में मतदाताओं को दो अलग-अलग ईवीएम में अपना वोट कैद कर पाने में कोई दिक्कत ना हो।

स्थानीय एंव राजनीतिक पंडितों का मानना है कि पिता-बेटे की इस जोड़ी के लिए यहां जीत आसान होगी क्योंकि कई दशकों से यह कमलनाथ का गढ़ है।

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story