सियासी तूफान! BJP से बगावत कर सकते हैं सिंधिया, उपचुनाव से पहले उठाया ये कदम

मध्य प्रदेश में उपचुनाव होने हैं। जिसकी तैयारियां भी शुरू हो गयी हैं। इन सब के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया का अपने आधिकारिक ट्वीटर अकॉउंट से BJP को हटाया, सियासी गलियारे में चर्चा का विषय बन गया।

भोपाल: कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश में होने वाले उपचुनावों से पहले फिर सुर्ख़ियों में हैं। दरअसल उन्होंने अपने ट्वीटर अकॉउंट से BJP हटा दिया है। यहां पर उन्होंने पब्लिस सर्वेंट लिखा है, हालाँकि ऐसे किये जाने के बाद कई तरह की अटकलें लगाई जा रही है।

सिंधिया ने ट्वीटर प्रोफाइल से हटाया BJP

दरअसल, मध्य प्रदेश में उपचुनाव होने हैं। जिसकी तैयारियां भी शुरू हो गयी हैं। इन सब के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया का अपने आधिकारिक ट्वीटर अकॉउंट से BJP को हटाया, सियासी गलियारे में चर्चा का विषय बन गया। वैसे अभी तक भाजपा की ओर से सिंधिया के इस कदम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

ये भी पढ़ेंः BJP नेता मेनका गांधी के खिलाफ FIR दर्ज, हथिनी की मौत पर दिया था ये बयान

22 विधायकों संग छोड़ी थी कांग्रेस

इसके पहले सिंधिया ने जब कांग्रेस पार्टी का साथ छोड़ा था, तब उन्होंने अपने बायो से कांग्रेस शब्द को हटा दिया था और बाद में भाजपा का दामन थाम लिया था। गौरतलब है कि तब सिंधिया के साथ 22 विधायकों ने भी कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। भाजपा ने सिंधिया को राज्यसभा सांसद का टिकट दे दिया। वहीं जिन विधायकों ने कांग्रेस छोड़ा था, उनमे कमलनाथ मंत्रिमंडल के छह मंत्री भी थे, जिन्हे शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में शामिल किया गया।

लगाई जा रही अटकलें, भाजपा पर दबाव बना रहे सिंधिया

हालांकि राजनीतिक गलियारे में चर्चा है कि सिंधिया अपने ज्यादातर समर्थकों को शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार में शामिल करवाना चाहते हैं। वहीं सीएम शिवराज पार्टी और सरकार में भाजपा और बागी विधायकों के बीच संतुलन बनाये रखना चाहते थे। ऐसे में आशंका जताई जा रहे है कि सोशल मीडिया से बीजेपी का नाम हटा कर सिंधिया पार्टी पर दबाव बना रहे हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।