कर्नाटक: कांग्रेस-जेडीएस ने तेज की बागी विधायकों को मनाने की कोशिश

एमटीबी नागराज ने संकेत दिया है कि वह अपना इस्तीफा वापस लेने पर विचार कर सकते हैं। मगर देर शाम तक इस संबंध में कोई घोषणा नहीं हुई। इस बीच बीजेपी ने स्पष्ट कर दिया है कि वह विधानसभा में सोमवार को कुमारस्वामी से शक्ति परीक्षण कराने की मांग करेगी।

कांग्रेस-जेडीएस

कांग्रेस-जेडीएस

बेंगलुरु: कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार अभी भी राजनीतिक संकट में फंसी हुई है। ऐसे में जहां कांग्रेस-जेडीएसkarnat की गठबंधन सरकार अपने बागी विधायकों को मनाने की कोशिश में लगी है तो वहीं गठबंधन की मुश्किल बढ़ाते हुए पांच और विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष द्वारा इस्तीफा स्वीकार नहीं किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है।

यह भी पढ़ें: NIA ने किया आतंकी साजिश का पर्दाफाश, पूरे देश में की थी हमलों की तैयारी

इन सबके बीच बीजेपी ने भी कहा है कि सोमवार को पार्टी मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी से शक्ति परीक्षण कराने को कहेगी। हालांकि, कुमारस्वामी सरकार ने अभी तक हार नहीं मानी है और वह बातचीत में लगी हुई है।

कांग्रेस-जेडीएस के एक बागी विधायक ने वापस लिया इस्तीफ़ा

रविवार को पूरे दिन इस बात पर ही चर्चा होती रही कि आगे क्या करना है। इस बैठक में डी के शिवकुमार, उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर, सीएलपी नेता सिद्धरमैया और कुमारस्वामी शामिल थे। इस बैठक के बाद यह बात सामने आ रही है कि कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार बागी विधायक एमटीबी नागराज को मनाने में सफल हो गई है।

यह भी पढ़ें: भाजपा में बड़ा बदलाव : पार्टी महासचिव रामलाल को वापस आरएसएस में भेजा गया

एमटीबी नागराज ने संकेत दिया है कि वह अपना इस्तीफा वापस लेने पर विचार कर सकते हैं। मगर देर शाम तक इस संबंध में कोई घोषणा नहीं हुई। इस बीच बीजेपी ने स्पष्ट कर दिया है कि वह विधानसभा में सोमवार को कुमारस्वामी से शक्ति परीक्षण कराने की मांग करेगी।

इस्तीफ़ा देने वाले विधायकों की बढ़ी संख्या

इसके अलावा जिन और पांच विधायकों ने उनके इस्तीफे स्वीकार करने से विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार के इनकार के खिलाफ शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है वो आनंद सिंह, के. सुधाकर, एन. नागराज, मुनिरत्न और रोशन बेग हैं। इस सभी विधायकों का कहना है कि पहले से ही लंबित 10 अन्य बागी विधायकों की याचिका में उन्हें भी शामिल कर लिया जाए। इस याचिका पर मंगलवार को सुनवाई होनी है।

यह भी पढ़ें: विधायक बेटी और दलित पति के बाद अब अमरोहा की लड़की का देखें ये नया वीडियो

ऐसे में अब कर्नाटक में गठबंधन सरकार अब बेहद गंभीर संकट से गुजर रही है। पांच और विधायकों द्वारा इस्तीफ़ा देने के बाद अब इस्तीफ़ा देने वाले विधायकों की संख्या 16 तक पहुंच गई है। इनमें से 13 विधायक कांग्रेस के और तीन जेडीएस के हैं।