पार्टी से बाहर ये दिग्गज नेता, खुद सीएम ने लिया इनपर तगड़ा एक्शन

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (JDU) प्रमुख नीतीश कुमार ने बुधवार को पार्टी से प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को बाहर का रास्ता दिखा दिया।

Nitish Kumar Expels Prashant kishor & Pawan Verma from JDU

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (JDU) प्रमुख नीतीश कुमार ने बुधवार को पार्टी से प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को बाहर का रास्ता दिखा दिया। दोनों बागी नेताओं को जेडीयू से निकालते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि इनकी पार्टी में कोई जरूरत नहीं है। नीतीश पहले ही बागी नेताओ को कह चुके थे कि जिसको पार्टी से जाना हो चला जाए। वहीं अब आधिकारिक तौर पर इसकी घोषणा कर दी गयी।

प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को JDU से निकाला:

जेडीयू के बागी नेता प्रशांत किशोर और पवन वर्मा पर सीएम नीतीश ने बड़ी कार्रवाई करते हुए पार्टी से निकाल दिया। गौरतलब है कि बुधवार को नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर पर बड़ा हमला बोला था।  उन्होंने कहा कि जिसको पार्टी से बाहर जाना है वो जा सकता है। वहीं उनके इस बयान के बाद से माना जा रहा था कि जेडीयू दोनों बागी नेताओं पर कार्रवाई करेगी।

ये भी पढ़ें: मोदी-शाह के बाद योगी का क्रेज: BJP ने जताया भरोसा, दी ये बड़ी जिम्मेदारी 

बागी नेताओं की बयानबाजी के बाद बढ़ा था विवाद:

दरअसल, नीतीश कुमार ने कहा कि प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर ही पार्टी में शामिल किया गया था। नीतीश कुमार के इस बयान के बाद प्रशांत किशोर ने पलटवार किया था। उन्होंने कहा कि पार्टी में मुझे लेने को लेकर नीतीश कुमार ऐसे झूठ कैसे बोल सकते हैं। आपने एक नाकाम कोशिश की है। मेरा रंग आपके जैसा नहीं है।

BJP-JDU गठबंधन में पड़ी दरार! नीतीश कुमार ने तोड़ी चुप्पी, कहा...

ये भी पढ़ें: इमरान को लगा इंजेक्शन: तो पाकिस्तानी नर्स के प्यार में हुए पागल, वो बन गई हूर

बैटक में शामिल होने को लेकर कहा था- इनकी पार्टी को जरूरत नहीं:

वहीं जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने भी इससे पहले एक बैठक के बाद कहा कि जेडीयू की बैठक में प्रशांत किशोर और पवन वर्मा की कोई जरूरत नहीं है। वशिष्ठ नारायण के इस बयान से साफ हो गया कि जेडीयू प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को आउट करने में जुट गई।

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सीएए और एनआरसी को लेकर प्रशांत किशोर और पवन वर्मा ने पार्टी लाइल से हटकर अलग मोर्चा खोल रखा है. इसको लेकर पार्टी चीफ नीतीश कुमार ने यह कहा भी था कि जिसे जहां जाना है वो जा सकता है।

ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला, अब गर्भपात पर बनेगा ये कानून