Top

प्रियंका गांधी का भाजपा पर हमला, ऐसी मानसिकता से कैसे बचाएंगे महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर अपनी टिप्पणी में सवाल उठाया है कि क्या इस तरह के व्यवहार से हम महिला सुरक्षा सुनिश्चित कर पाएंगे।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 8 Jan 2021 11:06 AM GMT

प्रियंका गांधी का भाजपा पर हमला, ऐसी मानसिकता से कैसे बचाएंगे महिलाओं को
X
प्रियंका गांधी का भाजपा पर हमला, ऐसी मानसिकता से कैसे बचाएंगे महिलाओं को (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: कांग्रेस संगठन की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने बदायूं गैंगरेप मामले में भाजपा को आड़े हाथों लिया है। भाजपा नेताओं और राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य के बयान का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी मानसिकता की वजह से ही भाजपा सरकारों में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं।

ये भी पढ़ें:किसान MSP के लिए आवाज उठाएगा तो उसे छज्जे गिराने की धमकी दी जाएगी: प्रियंका गांधी

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर अपनी टिप्पणी में सवाल उठाया है कि क्या इस तरह के व्यवहार से हम महिला सुरक्षा सुनिश्चित कर पाएंगे। महिला आयोग की सदस्य बलात्कार पीडि़ता को ही वारदात के लिए दोषी ठहरा रही हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ हो रहे सभी घृणित आपराधिक मामलों में भाजपा की ऐसी ही भाषा सुनने को मिली है। पीडि़ताओं के चरित्र लांछन के साथ ही उन्होंने आपराधिक सोच वाली पुरुष सत्ता की मानसिकता का समर्थन किया है। उन्होंने आगे कहाकि इस तरह के सभी मामलों को महिलाएं देख रही हैं। इसके लिए भाजपा को माफ नहीं करेंगी।

पोस्टमार्टम लीक मामले की जांच पर भी उठाया सवाल

प्रियंका गांधी ने कहा कि बदायूं में हैवानियत का शिकार हुई महिला की पहले थाने में सुनवाई नहीं हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद जब मामले की गंभीरता सामने आई तो अब जिला प्रशासन ने पोस्टमार्टम लीक की जांच शुरू करा दी है। जिला प्रशासन को वारदात से ज्यादा बड़ी चिंता पोस्टमार्टम रिपोर्ट लीक होने की है। इससे ज्यादा शर्मनाक और बेशर्मी वाली कोई दूसरी बात नहीं हो सकती है।

ये भी पढ़ें:शादी बंदूक वाली: हो गया पकड़ुआ विवाह, गायब हुआ दूल्हा औए ढूंढते रह गया परिवार

क्या कहा है राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य ने

राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी एक दिन पहले पीडि़त परिवार के घर पहुंची थीं। वहां उन्होंने मीडिया से कहा कि किसी भी महिला को समय-असमय किसी व्यक्ति के बुलाने पर अकेले नहीं जाना चाहिए। अगर पीडि़त महिला अपने साथ किसी महिला को साथ लेकर जाती या कोई बच्चा भी उसके साथ होता तो ऐसी घटना नहीं होती। उन्होंने महिला के शाम के समय मंदिर में अकेले जाने पर भी सवाल उठाया है।

https://www.facebook.com/262826941324532/posts/755858232021398/

प्रियंका ने सोशल मीडिया पर क्या कहा --

प्रियंका गांधी की फेसबुक पोस्ट

क्या इस व्यवहार से हम महिला सुरक्षा सुनिश्चित कर पाएंगे?

महिला आयोग की सदस्य बलात्कार के लिए पीड़िता को दोषी ठहरा रही हैं।

बदायूं प्रशासन को ये चिंता है कि इस केस का सच सामने लाने वाली पीड़िता की पोस्टमार्टम लीक कैसे हुई।

याद रखिए कि इस समय एक और भयावह बलात्कार के मामले में मुरादाबाद की पीड़िता मौत से जंग लड़ रही है।

महिलाएं इस प्रशासनिक प्रणाली को व इस बदजुबानी को माफ नहीं करेंगी।

रिपोर्ट- अखिलेश तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story