प्रियंका गांधी की बढ़ी मुश्किलें, इस पुराने मामले में HC में याचिका दाखिल

याचिका में प्रियंका गांधी वाड्रा और यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के बीच 2 करोड़ रुपये की कथित एक डील को लेकर तमाम तरह के आरोप लगाए गये हैं और उसको लेकर कई सवाल उठाए गये हैं।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की फाइल फोटो

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की फाइल फोटो

नई दिल्ली: कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की मुसीबतें बढ़ गई हैं। दिल्ली हाईकोर्ट में उनके खिलाफ एक याचिका दायर की गई है।

याचिका में प्रियंका गांधी वाड्रा और यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के बीच 2 करोड़ रुपये की कथित एक डील को लेकर तमाम तरह के आरोप लगाए गये हैं और उसको लेकर कई सवाल उठाए गये हैं।

बताया जा रहा है कि अखिल भारतीय शांति प्रतिष्ठान नाम के एक एनजीओ की तरफ से ये याचिका दायर की गई है। इस याचिका पर सुनवाई के लिए अभी दिल्ली हाईकोर्ट की तरफ से कोई तारीख तय नहीं की गई है।

अदालत में याचिकाकर्ता की तरफ से कहा गया है कि 1 मई 2010 को मिलिंद देवड़ा ने एक पत्र राणा कपूर को लिखा, जिसमें प्रियंका गांधी से एक पेंटिंग को खरीदने के लिए कहा गया था।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की फाइल फोटो

ये भी पढ़ें: UP में अब हारेगा कोरोना: दुकानदारों समेत इन सभी की होगी जांच, मिला निर्देश

2 करोड़ रुपये की डील का आरोप

याचिका में कहा गया है कि उसके बाद 3 जून 2010 को प्रियंका गांधी की तरफ से राणा कपूर को पत्र लिखा गया, जिसमें 2 करोड़ रुपये चेक के माध्यम से प्राप्त होने की बात कही गई थी।। इसके साथ ही कोर्ट से इस पूरे मामले की जांच सीबीआई, ईडी और गृह मंत्रालय द्वारा कराने की मांग की है।

कोर्ट में दायर याचिका में पूछा गया है कि क्या सार्वजनिक धन और अपनी पावर का गलत इस्तेमाल करते हुए राणा कपूर ने 2 करोड़ रुपये की इस डील को अंजाम दिया या फिर ये पैसा उनकी कंपनी या उनके खुद के पैसे से ये डील की गई, कोर्ट द्वारा इसकी जांच कराई जाए।

एनजीओ का कहना है कि उसने 12 जनवरी 2020 को इस मामले में सीबीआई, ईडी और गृह मंत्रालय को राणा कपूर, प्रियंका गांधी वाड्रा और मिलिंद देवड़ा के खिलाफ शिकायतें दी थीं। याचिकाकर्ता का कहना है कि इस पूरे केस में राणा कपूर के साथ-साथ प्रियंका गांधी और मिलिंद देवड़ा को भी अभियुक्त बनाकर जांच एजेंसी को कार्रवाई करनी चाहिए।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की फाइल फोटो

ये भी पढ़ें: सुशांत केस: रिया चक्रवर्ती से ED की पूछताछ, इन सवालों के देने होंगे जवाब

राजीव गांधी के द्वारा खरीदी गई थी ये पेंटिग

याचिका में दावा किया गया है कि ये पेंटिंग पूर्व प्रधानमंत्री और प्रियंका गांधी के पिता राजीव गांधी के द्वारा खरीदी गई थी। इस पेंटिंग की प्रोपराइटरशिप कांग्रेस पार्टी के पास थी, लेकिन प्रियंका गांधी ने जानबूझकर इसे राणा कपूर को बेच दिया, जो गैरकानूनी था।

कोर्ट से यह भी मांग की गई है कि पीएमओ से इस बात की जानकारी मांगी जाए कि क्या एमएफ हुसैन द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दी गई इस तस्वीर का कोई रिकॉर्ड उसके पास मौजूद है या नहीं। और क्या इस पेंटिंग को प्रियंका गांधी किसी तीसरे व्यक्ति को बेचने का अधिकार रखती थीं। फ़िलहाल राणा कपूर मनी लॉन्ड्रिंग के केस में जेल में बंद हैं।

ये भी पढ़ें: UP में अब हारेगा कोरोना: दुकानदारों समेत इन सभी की होगी जांच, मिला निर्देश

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App