Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

प्रियंका का सवाल! बिजनेस ब्रोकर की PMO में कैसे बनी पहुंच

माडी शर्मा जैसे इंटरनेशनल बिजनेस ब्रोकर बड़ी शान से लिखते हैं, भारत आइए हम आपका खर्चा भी उठाएंगे। इसके अलावा एक और ट्वीट में प्रियंका गांधी ने सवाल उठाते हुए लिखा है कि PM ऑफिस में हमारी पहुंच है, हम आपको PM से भी मिलवायेंगे।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 30 Oct 2019 3:34 PM GMT

प्रियंका का सवाल! बिजनेस ब्रोकर की PMO में कैसे बनी पहुंच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्लीः कश्मीर दौरे पर आये ईयू के सांसदों के कश्मीर दौरे पर अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सवाल उठाए हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वार किया है। उन्होंने इस बारे में ट्वीट किया है और लिखा है कि भारत के किसानों-बेरोजगार युवाओं के लिए ये सुविधा नहीं है कि पीएम से मुलाकात हो सके। समस्याएं सुनी जा सकें।

लेकिन हां माडी शर्मा जैसे इंटरनेशनल बिजनेस ब्रोकर बड़ी शान से लिखते हैं, भारत आइए हम आपका खर्चा भी उठाएंगे। इसके अलावा एक और ट्वीट में प्रियंका गांधी ने सवाल उठाते हुए लिखा है कि PM ऑफिस में हमारी पहुंच है, हम आपको PM से भी मिलवायेंगे।

ये भी देखें : राजधानी में हर तरफ फैल स्मॉग की चादर, देखें तस्वीरें

अब सवाल यह उठता है कि इस बिजनेस ब्रोकर की PM ऑफिस में पहुंच बनी कैसे? विदेशी सांसदों के कश्मीर दौरे को लेकर विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार से सवाल पूछ रही है कि जब भारतीय सांसदों को कश्मीर नहीं जाने दिया जा रहा है तो विदेशी को जाने की अनुमति क्यों दी गई?

खुलासे में चौंकाने वाली बात आई सामने

दरअसल ये खुलासा हुआ है कि सभी 27 यूरोपीय सांसदों को माडी शर्मा के एनजीओ ने न्योता भेजा था। माडी शर्मा ने ही सांसदों को पीएम से मिलवाने का प्रस्ताव दिया था।

ये भी देखें : समुन्दर के भीतर तैयार हो रहा है इस्लामिक स्टेट का साम्राज्य

कौन हैं माडी शर्मा

माडी शर्मा वूमंस इकोनॉमिक एंड सोशल थिंक टैंक (WESTT) नाम के एनजीओ की प्रमुख हैं। माडी शर्मा बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में रहने वाली भारतीय मूल की ब्रिटिश नागरिक हैं। माडी शर्मा के ट्विटर हैंडल पर दी जानकारी में ये खुद को 'सोशल कैपिटलिस्ट: इंटरनैशनल बिजनेस ब्रोकर, एजुकेशनल आंत्रप्रेन्योर ऐंड स्पीकर' बताती हैं।

दावा है कि माडी शर्मा ने ही यूरोपियन यूनियन के 30 सांसदों को चिट्ठी लिखकर पीएम मोदी, एनएसए अजीत डोभाल से मिलवाने और कश्मीर ले जाने का न्योता दिया था।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story