Top

अलवर की गैंगरेप पीड़िता और उसके परिवार से आज मुलाकात करेंगे राहुल

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 15 May 2019 4:45 AM GMT

अलवर की गैंगरेप पीड़िता और उसके परिवार से आज मुलाकात करेंगे राहुल
X
राहुल गांधी की फ़ाइल फोटो
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अलवर जिले के थानागाजी में पति को बंधक बनाकर विवाहिता से गैंगरेप मामले में सियासत गरमाई हुई है। मामले में लगातार हो रही राजनीतिक बयानबाजी के बीच अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को गैंगरेप पीड़िता से मुलाकात करने थानागाजी पहुंचेंगे।

बताया जा रहा है कि राहुल के अलवर दौरे के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी उनके साथ रहेंगे। राहुल बुधवार को हेलीकॉप्टर से थानागाजी पहुंचेंगे।

इसके लिए मंगलवार को पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में अस्थाई हेलीपैड का निर्माण किया गया। एसपीजी की टीम के भी मंगलवार शाम तक पहुंचने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें...अलवर गैंगरेपः जांच में हुई लापरवाही पर राजस्थान सरकार ने दिए जांच के आदेश

वहीं,राहुल के अलवर दौरे को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने उन पर निशाना साधा है। जावड़ेकर ने कहा, 'मुझे पता चला कि राहुल गांधी कल दुष्कर्म पीड़िता से मिलने अलवर आने वाले हैं। मैं कहना चाहूंगा कि वह कोई स्पष्टीकरण नहीं दें, सीधा मुख्यमंत्री का इस्तीफा लें।'

उन्होंने मतदान के चलते कांग्रेस सरकार पर दुष्कर्म की घटना को छिपाने का आरोप लगाया। इससे पहले सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी रैलियों में अलवर कांड को लेकर कांग्रेस सरकार को घेर चुके हैं।

पीएम ने बसपा सुप्रीमो मायावती से राजस्थान की कांग्रेस सरकार से समर्थन लेने की मांग भी की थी। वहीं, मायावती ने इस मामले में कहा था कि थानागाजी रेप प्रकरण पर बसपा नजर बनाए हुए है। उचित समय में फैसला लेंगे।

ये भी पढ़ें...अलवर रेप केस: मायावती का PM मोदी पर पलटवार, पूछा ये सवाल

घटना 26 अप्रैल की है। थानागाजी के रहने वाले एक दंपति बाइक पर जा रहे थे। तभी पांच युवकों ने उनका पीछा करके उन्हें रोक लिया। इसके बाद वह उन्हें जबरन जंगल ले गए। वहां महिला के साथ पति के सामने सामुहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने इसका वीडियो भी बनाया। इस मामले में 2 मई को एफआईआर दर्ज हुई।

बताया जाता है के पीड़ित थाने गए थे, लेकिन पुलिस ने चुनाव में व्यस्त होने की बात कहकर मुकदमा नहीं लिखा। बाद में घटना का वीडियो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ा।

ये भी पढ़ें...अलवर रेप केस: मायावती ने पीएम मोदी को लेकर ये क्या कह दिया?

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story