जयपुर की धरती पर उतरते ही पायलट बोले-अपने ऊपर लगे आरोपों से आहत हूं

दिल्ली से जयपुर पहुंचे कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने आज अपने उपर लगे आरोपों पर खुलकर बात की। मीडिया से बात करते हुए कहा कि राजस्थान में 1 महीने के घटनाक्रम में जिस तरह की बातें उनके खिलाफ उन्हें सुनने को मिली हैं, उससे वे बेहद ही आहत हैं।

कांग्रेस नेता सचिन पायलट की फ़ाइल फोटो

कांग्रेस नेता सचिन पायलट की फ़ाइल फोटो

इंदौर: दिल्ली से जयपुर पहुंचे कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने आज अपने उपर लगे आरोपों पर खुलकर बात की। मीडिया से बात करते हुए कहा कि राजस्थान में 1 महीने के घटनाक्रम में जिस तरह की बातें उनके खिलाफ उन्हें सुनने को मिली हैं, उससे वे बेहद ही आहत हैं। आज एक बार फिर कहा कि उनकी ओर से कांग्रेस आलाकमान से पार्टी में कोई पद की मांग नहीं की गई है।

उन्होंने कहा, जिस तरह के शब्दों का प्रयोग मेरे लिए किया गया, उससे मैं बहुत ही ज्यादा आहत हूं। मुझे लगता है कि हमें भूल जाना चाहिए कि क्या कहा गया था। राजनीति में बातचीत का स्तर बना रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी के भीतर व्यक्तिगत वैमनस्य की भावना नहीं होनी चाहिए। सभी को मुद्दों और नीति के आधार पर काम करना चाहिए।

सचिन पायलट, राहुल गांधी और अशोक गहलोत की फ़ाइल फोटो
सचिन पायलट, राहुल गांधी और अशोक गहलोत की फ़ाइल फोटो

ये भी पढ़ें: बंटवारे के 73 साल: अबतक नहीं भरे जख्म, याद कर कांप जाती है रूह

पायलट ने कहा, हमने पार्टी या पार्टी नेतृत्व के खिलाफ कभी कुछ नहीं बोला, ना ही कुछ किया। कई लोगों ने कई अफवाहें फैलाईं और कई सवाल उठाए लेकिन हम उस स्टैंड पर कायम हैं जो हमने 30 दिन पहले लिया था।
उन्होंने कहा, मैंने पार्टी से कोई मांग नहीं की है। मैं एक विधायक और एक कांग्रेस कार्यकर्ता हूं, जो भी पार्टी मुझसे करने को कहेगी मैं वह करूंगा।

ये भी पढ़ें: योगी के मंत्री की तैयारियां: जन्माष्टमी को लेकर दिखे उत्सुक, कही ये बात…

सचिन पायलट, राहुल गांधी और अशोक गहलोत की फ़ाइल फोटो
सचिन पायलट, राहुल गांधी और अशोक गहलोत की फ़ाइल फोटो

ऐसे बनी बात?

मालूम हो कि राजस्थान में अशोक गहलोत अभी सीएम बने रहेंगे, लेकिन सचिन पायलट के करीबियों को मंत्रिमंडल में बड़ा पद ओहदा दिया जा सकता है। इसके अलावा पार्टी की ओर से सचिन पायलट को सीएम पद का आश्वासन मिला है।

राहुल-प्रियंका से मुलाकात के बाद सचिन पायलट ने मीडिया से बात की, उन्होंने कहा कि पार्टी पद देती है तो ले भी सकती है। हम आत्मसम्मान की लड़ाई लड़ रहे थे।

इस बीच अब इस बात पर मंथन होगा कि सचिन पायलट की सम्मानजनक वापसी कैसे हो, पार्टी की ओर से उन्हें केंद्रीय नेतृत्व में कोई पद दिया जा सकता है।

ये भी पढ़ें: शाह फैसल ने सियासत छोड़ी, IAS से इस्‍तीफा देकर बनाई थी अपनी पार्टी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App