नतीजों के बाद विपक्ष के बदले सुर, जनमत को स्वीकार करने की कही बात

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि जनमत स्वीकार! उत्तर प्रदेश की सम्मानित जनता और तमाम कार्यकर्ताओं का धन्यवाद। जबकि मतगणना के एक दिन पहले ही उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा था कि कल जब जनादेश आएगा, भाजपा का सारा अहंकार मिट जाएगा।

file photo

लखनऊ: लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद विपक्षी दलों के नेताओं के सुर बदलने लगे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेठी में स्मृति ईरानी के हाथों करारी हार के बाद जनादेश स्वीकार करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा को जी की बधाई दी। वहीं कांग्रेस का किला ध्वस्त करने के बाद स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया कि कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि जनमत स्वीकार! उत्तर प्रदेश की सम्मानित जनता और तमाम कार्यकर्ताओं का धन्यवाद। जबकि मतगणना के एक दिन पहले ही उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा था कि कल जब जनादेश आएगा, भाजपा का सारा अहंकार मिट जाएगा। महागठबंधन की महाविजय से होगा ‘सामाजिक न्याय’ का महापरिवर्तन! मतगणना स्थल पर मुस्तैद रहें।

ये भी देखें : चुनाव हारने के बाद पूनम सिन्हा ने अखिलेश यादव से की मुलाकात

मायावती बोलीं ईवीएम के जरिए चुनाव को भाजपा ने किया हाईजैक

उधर बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने महागठबंधन की हार का ठीकरा ईवीएम के सिर फोड़ा है। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी दल भाजपा ने चुनाव को ईवीएम के जरिए हाईजैक कर लिया। चुनाव परिणाम जनता के गले नहीं उतर रहा।

मायावती ने कहा कि यूपी, बिहार और पश्चिम बंगाल की कुल 162 सीटों पर जनता ने भाजपा और प्रधानमंत्री की गलत नीतियों के खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लड़ी थी, लेकिन जो परिणाम आया, वह जनभावना व जन अपेक्षाओं के ठीक उलट है। ईवीएम से चुनाव कराने की इस व्यवस्था में कई कमियां हमारी जानकारी में आई हैं। शायद यही वजह है कि देश भर में ईवीएम का विरोध हो रहा है। आज आए नतीजों के बाद जनता का ईवीएम पर से विश्वास ही खत्म हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि बसपा, सपा और रालोद के साथ अन्य पीड़ित पार्टियां मिलकर आगे की रणनीति तय करेंगी। उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव व रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह का ईमानदारी व निष्ठा के साथ गठबंधन के सभी उम्मीदवारों को जिताने के लिए आभार जताया। मायावती ने कहा कि हमें अपनी मेहनत के अनुरूप नतीजे नहीं मिलने पर तकलीफ है, लेकिन बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर से प्रेरणा लेकर हमें संघर्ष जारी रखना है।

ये भी देखें : प्रचंड जीत के बाद बाबा विश्वनाथ का आशीर्वाद लेने जल्द काशी आयेंगे पीएम मोदी

भाजपा ने मोदी-शाह की रणनीति की बतायी जीत

उधर जीत के बाद भाजपा में जश्न का माहौल रहा। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि यह जीत किसी एक व्यक्ति की नहीं है यह जीत भारत के प्रत्येक नागरिक की जीत है जिसने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी पर विश्वास किया और अपना आशीर्वाद दिया। मौर्य ने कहा कि अमित शाह के नेतृत्व और नीतियों के कारण ही आज भारतीय जनता पार्टी पग-पग आगे बढ़ती जा रही है। मौर्य द्वारा विपक्ष को सलाह भी दी कि सत्ता का मोह छोड़ कर गरीबों और जनता पर ध्यान लगायें, नहीं तो भविष्य में विपक्ष जैसे शब्दों के उच्चारण भी नहीं रह जाएंगे।

उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि जनता ने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भरोसा जताते हुए न्यू इंडिया के सपने को साकार करने के लिए देश की बागडोर फिर उनके हाथ में सौंपी है। उन्होंने कहा कि भाजपा की इस ऐतिहासिक जीत का कारण केन्द्र की प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का कामकाज रहा है। पिछले पांच वर्ष में प्रधानमंत्री ने दुनियाभर में भारत का मान बढाने का काम किया है। आज दुनिया के ताकतवर देश भी भारत को बराबर का महत्व देते हैं। जनता ने केन्द्र में मजबूत व देश का स्वाभिमान बढ़ाने वाली तथा जनता के हितों के लिए काम करने वाली सरकार को ही मौका दिया है।