शशि थरूर का ट्रंप से सवाल: दवा की सप्लाई के बदले क्या भारत को मिलेगी प्राथमिकता

भारत ने अमेरिका की मांग को पूरा कर दिया है। इस बीच कांग्रेस नेता शशि थरूर ने डोनाल्ड ट्रंप से सवाल किया है कि क्या भारत को कोरोना की वैक्सीन देगा अमेरिका?

कांग्रेस नेता शशि थरूर की फाइल फोटो

कांग्रेस नेता शशि थरूर की फाइल फोटो

नई दिल्ली: इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रही है। ऐसे में अमेरिका भी इससे अछूता नहीं है। अमेरिका में तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल रहा है और वहां पर 7 हजार से ज्यादा लोगों की इस जानलेवा वायरस के चलते जान चली गई है। ऐसे में बीते दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने PM मोदी से बातचीत कर हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन दवाई की सप्लाई की मांग की थी।

ट्रंप की भारत को धमकी

पहले तो डोनाल्ड ट्रंप ने इस दवा के लिए भारत से अनुरोध किया था, लेकिन बाद में राष्ट्रपति ट्रंप के सुर बदल गए और उन्होंने भारत को धमकी दे डाली कि अगर वो हमें दवा की सप्लाई नहीं करते हैं तो हम बदले की कार्रवाई करेंगे।

यह भी पढ़ें: भारत के अच्छी खबर: कोरोना वायरस से नहीं होगा ज्यादा नुकसान, शोधकर्ताओं का दावा

विवाद का कारण बना ट्रंप का धमकी भरा लहजा

ट्रंप के इस तरह धमकी देने के बाद हर तरफ इस बात की चर्चा तेजी हो गई। साथ ही उनका धमकी भरा लहजा विवाद का कारण बन गया। हालांकि अब भारत ने अमेरिका की मलेरिया ड्रग हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन दवाई की सप्लाई की मांग को पूरा कर दिया है। अब इस दवा की अमेरिका को सप्लाई की जाएगी। लेकिन इस बीच कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने डोनाल्ड ट्रंप से सवाल किया है कि जैसे हमने आपको को दवाई मुहैया कराई, तो क्या अब अमेरिका भारत को प्राथमिकता देते हुए पहले कोरोना की वैक्सीन देगा?

शशि थरूर ने ट्वीट करते हुए पूछा सवाल…

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने बुधवार को पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए और डोनाल्ड ट्रंप को टैग करते हुए लिखा कि, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, चूंकि भारत ने निस्वार्थ रूप से आपको हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वाइन की आपूर्ति करने के लिए सहमत हो गया है, तो क्या आप अगर अमेरिका के लैब में अगर कोई कोरोना वैक्सीन बनती है तो उसको साझा करने में भारत को पहली प्राथमिकता देंगे?

यह भी पढ़ें: कोरोना को लेकर योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी के ये 15 जिले 13 अप्रैल तक सील

ट्रंप ने कहा था- होगी बदले की कार्रवाई

बीते दिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि अगर भारत संकेत दिए थे कि अगर भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात पर से प्रतिबंध नहीं हटाया तो अमेरिका के इसका बदला लेगा। बता दें कि अमेरिका में इस एंटी मलेरिया दवा का उपयोग कोरोना के इलाज के लिए किया जा रहा है।

वहीं जैसे ही भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात को मंजूरी दी तो ट्रंप के मिजाज अचानक ही बदल गए और अब वह भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगान कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: भड़कीं ममता बनर्जी: तब्लीगियों पर राजनीति न करने की दी नसीहत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया महान नेता

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महान नेता बताया है। व्‍हाइट हाउस में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए ट्रंप ने कहा कि पीएम मोदी महान हैं और बहुत अच्‍छे हैं। भारत से अभी बहुत अच्‍छी चीजें आनी बाकी हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि अमेरिका ने कोरोना वायरस से जंग के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की 29 मिलियन डोज खरीदी है। इसमें से बड़ी तादाद में दवा भारत से आएगी।

भारत के दवा निर्यात को मंजूरी देने के बाद ट्रंप का बयान

बता दें कि हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात को मंजूरी देने के बाद उन्होंने कहा कि भारत ने अमेरिका के साथ बहुत अच्‍छा व्‍यवहार किया है। ट्रंप ने कहा कि मैं जानता हूँ कि भारत ने अन्‍य देशों में इस दवा के निर्यात के लिए रोक लगाई है लेकिन मैंने उनसे (पीएम मोदी) से बात की। हमारी बात बहुत अच्छी रही और उनका व्यवहार अमेरिका के प्रति अच्छा रहा।

यह भी पढ़ें: तंबाकू बचाएगी कोरोना, इन्होंने शुरू कर दिया है टीका विकसित करने पर काम शुरू

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App