×

महाराष्ट्र पर सस्पेंस खत्म: बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर शिवसेना ऐसे बनाएगी सरकार

ऐसे में अब देखना ये है कि क्या बाल ठाकरे की पुण्यतिथि के दिन शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनाने में कामयाब हो पाती है? हालांकि, शरद पवार गठबंधन की सरकार बनाने को लेकर संकेत दे चुके हैं।

Manali Rastogi
Updated on: 15 Nov 2019 6:33 AM GMT
महाराष्ट्र पर सस्पेंस खत्म: बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर शिवसेना ऐसे बनाएगी सरकार
X
महाराष्ट्र पर सस्पेंस खत्म: बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर शिवसेना ऐसे बनाएगी सरकार
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मुंबई: महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव के बाद अब यहां सरकार बनाने को लेकर अभी तक घमासान जारी है। जहां एक ओर बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन टूट चुका है तो वहीं राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया है। ऐसे में अब कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रदेश में शिवसेना शरद पवार की पार्टी एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने वाली है।

यह भी पढ़ें: ‘जय श्री राम-हो गया काम’! अब जानें महाराष्ट्र में किसकी बनेगी सरकार

यही नहीं, उम्मीद इसकी भी है कि शिवसेना बालासाहेब ठाकरे की पुण्यतिथि यानि 17 नवंबर को एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाएगी। सरकार बनाने के लिए शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के नेता साथ बैठे। बैठक में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ड्राफ्ट तैयार किया गया है। असहमति के मुद्दे किनारे छोड़ दिए गए और महाराष्ट्र की जनता को ध्यान में रखकर सरकार का एजेंडा तय किया गया।

ये है सरकार बनाने का फॉर्मूला

मिली जानकारी के अनुसार, शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन का फॉर्मूला तैयार हो चुका है। सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा, जबकि एनसीपी और कांग्रेस को 1-1 डिप्टी सीएम दिया जाएगा। इसके अलावा मंत्री पद के लिए तीनों पार्टी में 14-14-12 का फॉर्मूला सामने आ रहा है।

यह भी पढ़ें: नाथूराम गोडसे : एक महात्मा की हत्या, आरएसएस…कुछ सुनी कुछ अनसुनी कहानियां

शिवसेना- राष्ट्रवादी कांग्रेस और कांग्रेस के बीच यह तय हो गया है कि मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा। मालूम हो, शिवसेना इसपर पहले से ही अड़ी हुई थी कि मुख्यमंत्री उसकी पार्टी से होगा। वहीं, अब राष्ट्रवादी कांग्रेस और कांग्रेस ने भी इसपर मुहर लगा दिया है।

यह भी पढ़ें: जानिए क्या है यूनिफॉर्म सिविल कोड, जिस पर आज दिल्ली हाईकोर्ट में होगी सुनवाई

बता दें, हरियाणा के साथ महाराष्ट्र में भी 21 अक्टूबर, 2019 को वोटिंग हुई थी। हरियाणा में तो बीजेपी ने जेजेपी के साथ सरकार बना ली है, लेकिन महाराष्ट्र में पेंच फंस गया। यहां 24 अक्टूबर को रिज़ल्ट आने के बाद भी कोई पार्टी सरकार नहीं बना पाई, जिसकी वजह से प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया।

यह भी पढ़ें: सीएम योगी आज करेेंगे कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट का शिलान्यास, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

ऐसे में अब देखना ये है कि क्या बाल ठाकरे की पुण्यतिथि के दिन शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनाने में कामयाब हो पाती है? हालांकि, शरद पवार गठबंधन की सरकार बनाने को लेकर संकेत दे चुके हैं।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story