Top

रैली में महिला संग BJP कार्यकर्ताओं ने की अभद्रता, इस दिग्गज नेता ने कहा- सही किया

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 31 Jan 2020 11:01 AM GMT

रैली में महिला संग BJP कार्यकर्ताओं ने की अभद्रता, इस दिग्गज नेता ने कहा- सही किया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कलकत्ता: पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष (BJP leader Dilip Ghosh) के खिलाफ एक महिला ने अभद्रता का आरोप लगाते हुए केस दर्ज करवाया है। महिला का आरोप है कि सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन (CAA) करने के दौरान भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं ने उसके साथ धक्का मुक्की की, वहीं अपशब्द कहें। महिला ने बताया कि उसके साथ ही बदसलूकी को भाजपा अध्यक्ष ने सही बताते हुए कहा कि उनके आदमियों ने ठीक किया।

CAA का विरोध कर रही महिला संग BJP कार्यकर्ताओं की धक्का-मुक्की:

दरअसल, संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थन में गुरुवार को आयोजित रैली के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा एक महिला प्रदर्शनकारी से बदसलूकी किए जाने का पार्टी अध्यक्ष दिलीप घोष ने समर्थन करते हुए बयान दिया कि महिला को अपनी किस्मत का शुक्रगुजार होना चाहिए कि कुछ और नहीं हुआ। उनकी इस टिप्पणी की विपक्षी पार्टियों ने आलोचना की।

ये भी पढ़ें:हाईटेक होगा दिल्ली विधानसभा चुनाव, घर बैठे ही आपको मिलेगी ये जानकारी

महिला ने पतुली पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता की धारा 354 ए, 509, 506, 34 के तहत दिलीप घोष के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। महिला ने घोष पर रैली के दौरान अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया है।

क्या है मामला:

गुरूवार को भाजपा ने दक्षिण कोलकाता के पतुली से बाग जतीन इलाके तक सीएए के समर्थन में रैली की थी जिसका नेतृत्व स्वयं घोष कर रहे थे। इस दौरान एक अकेली महिला सीएए और जामिया यूनिवर्सिटी में चली गोली के खिलाफ तख्ती लेकर प्रदर्शन कर रही थी।

ये भी पढ़ें:बदलेगी दिल्ली की तकदीर: BJP ने अपने ‘संकल्प पत्र’ में किये ये बड़े वादे…

इस पर भाजपा समर्थकों ने महिला से तख्ती छीन ली और गाली गालौज किया। उन्होंने महिला के साथ धक्का मुक्की की जिसके बाद पुलिस ने उसे बचाया। इस मामले में घोष ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान महिला संग हुई धक्का मुक्की को सही बताते हुए कहा था कि हमारे आदमियों ने सही किया। उस महिला को अपनी किस्मत का शुक्रगुजार होना चाहिए कि केवल धक्का मुक्की हुई और कुछ नहीं।

CAA-NRC प्रोटेस्ट: संविधान को नहीं मानती सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र की महिलाएं

इसके अलावा घोष ने सवाल किया था, 'क्यों प्रदर्शनकारी (सीएए) हमेशा हमारी रैली में प्रदर्शन करने चले आते हैं? क्या वे अन्य कार्यक्रमों में नहीं जा सकते? हमने बहुत सहन किया, लेकिन अब ऐसी हरकतों को सहन नहीं करेंगे।'

ये भी पढ़ें:ये हैं 5 गरीब मुख्यमंत्री: चौथे का नाम सुन कर दंग रह जाएंगे

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story