×

Fake Note Of 500 Rupees: नकली हैं ऐसी हरी पट्टी वाले 500 रुपए के नोट?

Fake Note Of 500 Rupees: क्या कोरोना वायरस महामारी के बीच नकली नोटों का बढ़ गया है चलन? क्या आसानी से ठगे जा सकते हैं आप?

Meghna

MeghnaWritten By MeghnaChitra SinghPublished By Chitra Singh

Published on 27 Jun 2021 1:57 PM GMT

Fake Note
X

500 रुपए का नोट (फाइल फोटो- सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Fake Note Of 500 Rupees: क्या कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच नकली नोटों का बढ़ गया है चलन? क्या आसानी से ठगे जा सकते हैं आप? क्या 500 रुपए के ऐसे नोट हैं नकली? क्या इन्हें देने या लेने के वक्त रहना होगा सतर्क? जानें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस मेसेज (Viral Message) का सच!

सोशल मीडिया पर तेज़ी से एक मेसेज वायरल हो रहा है, जिसमें 500 रुपए के नए नोट को लेकर कई दावे किए जा रहे हैं। वायरल मेसेज में लिखा है, "500 रुपए की वो नोटें मत लीजिए जिनमें हरी पट्टी गांधी जी के नज़दीक बनी है, क्योंकि ये नकली है। 500 की सिर्फ वहीं नोटें लीजिए जिनमें हरी पट्टी RBI गवर्नर के सिग्नेचर के पास है। इस मेसेज को अपने परिवार और दोस्तों तक पहुंचाइए।"

सरकार ने किया खुलासा

तेज़ी से वायरल हो रहे इस मेसेज पर संज्ञान लेते हुए इसको शेयर कर सरकार की पीआईबी फैक्ट चेक के ट्विटर हैंडल ने स्पष्टीकरण जारी किया है। हैंडल ने ट्वीट किया, " दावा: 500 रुपए का वह नोट नहीं लेना चाहिए जिसमें हरी पट्टी आरबीआई गवर्नर के सिग्नेचर के पास न होकर गांधीजी की तस्वीर के पास होती है। #PIBFactCheck: यह दावा फ़र्ज़ी है। ये दोनों ही तरह के 500 रुपए के नोट आरबीआई के अनुसार मान्य हैं।" इसका मतलब हरी पट्टी चाहे गवर्नर के सिग्नेचर के पास हो या गांधी जी की तस्वीर के पास, दोनों ही मान्य हैं और उपयोग में लाए जा सकते हैं।

500 रुपए का असली व नकली नोट (फोटो- सोशल मीडिया)

खुद करें जांच, तब करें विश्वास

आज के दौर में जहां जानकारियां जल्दी से जल्दी पहुंचने की ज़रूरत है वहीं इस बात पर भी ज़ोर देना होगा की गलत जानकारी ना साझा की जाए। सोशल मीडिया पर आए दिन कई ऐसी खबरें वायरल होती रहती हैं जिसमें कोरोना वायरस, ब्लैक फंगस, सोशल मीडिया आदि को लेकर अलग अलग दावे किए जाते हैं। हमें उनकी प्रामाणिकता की जांच कर के ही उनपर विश्वास करना चाहिए और उसे आगे शेयर करना चाहिए।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story