Top

तीन दिवसीय रशियन फिल्म डेज में हुई फिल्म व सांस्कृतिक आदान-प्रदान की कोशिश

suman

sumanBy suman

Published on 12 Nov 2017 9:35 AM GMT

तीन दिवसीय रशियन फिल्म डेज में  हुई फिल्म व सांस्कृतिक आदान-प्रदान की कोशिश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबईः 47 साल पहले यहां जोकर ने हंसते-रोते हुए जीना यहां, मरना यहां सिखाया था, सीरी फोर्ट प्रेक्षागृह एक फिर जीवंत हुआ। मौका था यहां आयोजित रशियन फिल्म डेज-2017 के तीसरे संस्करण का, जिसके शुभारंभ में कलाकारों ने रंगारंग प्रस्तुतियां दीं। यह आयोजन तीन दिन तक चलेगा। इस दौरान रूसी फिल्मों की स्क्रीनिंग की गई व भारत-रूस संबंध को सांस्कृतिक लिहाज से नए आयाम दिए जाने की कोशिश हुई।

इस कार्यक्रम में रूस के संस्कृति मंत्री व्लादिमीर मेडिंस्की और भारत में रूस के राजदूत निकोलिया कुदाशेव भी उपस्थित रहे। यह महोत्सव सिनेमाई और सांस्कृतिक आदान-प्रदान के माध्यम से भारत-रूस संबंधों को मजबूत करने का एक प्रयास है। फिल्म महोत्सव सिरी फोर्ट ऑडिटोरियम में राज कपूर और वर्ष 1970 की उनकी प्रसिद्ध फिल्म ‘‘मेरा नाम जोकर” को समर्पित एक नाटकीय प्रस्तुति के साथ शुरू हुआ।

यह भी पढ़ें...ये क्या हुआ! सीरियल जोधा अकबर की लीड एक्ट्रेस को, तस्वीरें दे रही हैं जवाब

यह रूस की पसंदीदा भारतीय फिल्मों में से एक है। उद्घाटन के मौके पर रूस के संस्कृति मंत्री ब्लादिमीर मेडिंस्की ने कहा कि वह “भारत-रूस सहयोग को फिल्मों के सह-निर्माण में बदलते हुए” देखने की उम्मीद करते हैं। दिल्ली में 12 नवंबर को इस महोत्सव का समापन होगा जिसके बाद यह मुंबई में आयोजित होगा।

suman

suman

Next Story