Top

भूकंप वाला 2020: 12 बार डगमगाई धरती, बड़े झटके की आशंका बढ़ी

कोरोना संकट के बीच जब लोगों से उनकी सुरक्षा के लिए घरों में रहने के आदेश दिए गए तो भूकंप में अपना प्रकोप दिखाना शुरू किया। आलम ये हुआ कि लोगों को घरों में रहने में भी डर लगने लगा।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 8 Jun 2020 2:37 PM GMT

भूकंप वाला 2020: 12 बार डगमगाई धरती, बड़े झटके की आशंका बढ़ी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में सोमवार को फिर भूकंप के झटकों को महसूस किया गया। एक के बाद एक कई दिनों से बार बार आ रहे भूकंप से दिल्ली वाली दहशत में हैं। हालांकि इन भूकंप के झटकों की तीव्रता ज्यादा न होने से जान माल का नुकसान नहीं हुआ लेकिन इतनी बार भूकंप आने के बाद वैज्ञानिक भी परेशान हो गए हैं कि कही ये किसी अनहोनी का संकेत तो नहीं।

कोरोना संकट के बीच भूकंप ने लोगों को दहलाया

कोरोना संकट के बीच जब लोगों से उनकी सुरक्षा के लिए घरों में रहने के आदेश दिए गए तो भूकंप में अपना प्रकोप दिखाना शुरू किया। आलम ये हुआ कि लोगों को घरों में रहने में भी डर लगने लगा। हाल के दिनों में इतनी बार भूकंप के झटकों को महसूस किया गया, ऐसा लगा कि इस संकट के समय में धरती भी इंसानों से मजाक कर रहे है।

आज दिल्ली में आया भूकंप

दिल्ली में सोमवार को दोपहर 1 बजे क करीब भूकंप के झटकों को महसूस किया गया। इनकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 2.1 मापी गयी। जानकारी के मुताबिक, दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर भूकंप का केंद्र रहा। कम तीव्रता के कारण भूकंप से जान माल को कोई नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन दो महीने के अंदर कई बार भूकंप आने से दिल्ली वालों के मन में खौफ बैठ गया है।

ये भी पढ़ेंः जानें क्या है वर्चुअल रैली: शुरू हुआ दौर, कितनी असरदार, क्या है सीमाएं

दो महीने में 12 बार आया भूकंप :

ये कोई आम बात नहीं कि बीते दो महीनो में देश के अलग अलग क्षेत्रों में 12 बार भूकंप के झटकों को महसूस किया गया। सबसे ज्यादा इनका असर दिल्ली में रहा। इतनी बार भूकंप आने से विशेषज्ञों की चिंता भी बढ़ गयी। वैसे तो पिछले दिनों आये सभी भूकंप इतने खतरनाक नहीं थे, जिससे किसी तरह का नुकसान हो, लेकिन कई बार भूकंप आने से चिंता बढ़ गयी कि कहीं बड़ा भूकंप तो नहीं आने वाला है, जिसका संकेत इन छोटे छोटे झटकों के जरिये मिल रहा हो।

कब-कहाँ आया भूकंप:

-पिछले दो महीनों की बात करें तो सबसे पहला भूकंप दिल्ली में 12 अप्रैल को आया, इसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.5 मापी गयी। वहीं गहराई 8 किलोमीटर रही।

-दूसरी बार 13 अप्रैल को 2.7 रिक्टर स्केल की तीव्रता के साथ आया। इसका केंद्र दिल्ली था।

-तीसरी बार 15 मई रिक्टर स्केल पर तीव्रता 2.2 में आया। इसकी गहराई 22 किलोमीटर रही। इसका केंद्र दिल्ली था।

-चौथी बार रिक्टर स्केल पर तीव्रता 2.5 28 मई को भूकंप महसूस किया गया। इसका केंद्र फरीदाबाद था।

ये भी पढ़ेंःआतंकियों की कांपी रूह: 9 खूंखारों का हुआ ऐसा हाल, लेकिन अभी भी मंडरा रहा खतरा

-अगले ही दिन रिक्टर स्केल पर तीव्रता 2.9 में गहराई 10 किलोमीटर का भूकंप आया। इसका केंद्र रोहतक रहा।

-कुछ समझ पाते , उससे पहले ही उसी दिन यानी 29 मई को दोबारा भूकंप के झटके महसूस किये गए। इस बार पिछली बार की तुलना में तीव्रता ज्यादा रही। रिक्टर स्केल पर तीव्रता 4.5 मांपी गई। इसका केंद्र भी रोहतक था।

-1 जून को फिर भूकंप आया। रोहतक केंद्र रहा। जानकारी के मुताबिक, 10 किलोमीटर गहराई और रिक्टर स्केल पर तीव्रता 3.0 के साथ।

-उसी दिन रोहतक के केंद्र में रिक्टर स्केल पर 1.8 की तीव्रता के साथ फिर भूकंप के झटके महसूस हुए।

-इसके बाद 3 जून को फरीदाबाद के केंद्र में रिक्टर स्केल पर तीव्रता 3.0 का भूकंप आया। 4 किलोमीटर गहराई थी।

-5 जून को जमशेदपुर केंद्र में रिक्टर स्केल पर तीव्रता 4.1 और गहराई 16 किलोमीटर के साथ झटके महसूस हुए

-वहीं आज 8 जून 2020 रिक्टर स्केल पर तीव्रता 2.1 का भूकंप आया। इसका केंद्र दिल्ली-गुड़गांव बॉर्डर रहा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story