Top

जानें क्या है सिटी लॉकडाउन: आखिर कोरोना के डर से क्यों किया जा रहा ऐसा

कोरोना वायरस की वजह से बहुत से देशों में शहरों को लॉक डाउन करा जा रहा हैं। कोरोना के डर से लोग अपने अपने घरों में कैद हो रहे हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 21 March 2020 3:46 AM GMT

जानें क्या है सिटी लॉकडाउन: आखिर कोरोना के डर से क्यों किया जा रहा ऐसा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से बहुत से देशों में शहरों को लॉक डाउन करा जा रहा हैं। कोरोना के डर से लोग अपने अपने घरों में कैद हो रहे हैं। भारत समेत दुनिया के कई देशों जैसे चीन, इटली, स्पेन, लंदन आदि में पूरी तरह लॉक डाउन की स्थ‍िति कायम है। लेकिन आपको पता है कि आख‍िर ये लॉक डाउन क्या है। इसका कानूनी प्रारूप क्या है, ये कब-कब और कहां किया गया।

फिलहाल कोरोना वायरस को रोकने का अभी तक कोई पुख्ता इलाज नहीं निकल सका है। इससे बचने का एक ही रास्ता है, वो है संक्रमि‍त व्यक्ति से बचाव। देश में जिस तरह से लगातार संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही है। उसे देखते हुए हर व्यक्‍त‍ि सोशल डिस्टेंसिंग को अपना रहा है। दिल्ली सरकार ने तो सिनेमा हॉल, स्कूल और मॉल तक बंद करने के आदेश दे दिए हैं। और तो और रविवार को दिल्ली में मेट्रो सेवाएं भी बंद रहेंगी।

ये भी पढ़ें:व्हाइट हाउस तक पहुंचा कोरोना वायरस, उप राष्ट्रपति के ऑफिस का अधिकारी मिला पॉजिटिव

जानें- क्या होता है लॉकडाउन

असल में लॉकडाउन एक एमरजेंसी व्यवस्था है जो एपिडेमिक या किसी आपदा के समय शहर में सरकारी तौर पर लागू होती है। लॉक डाउन की स्थ‍िति में उस एरिया के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है। उन्हें सिर्फ दवा या अनाज जैसी जरूरी चीजों के लिए बाहर आने की इजाजत मिलती है। या फिर बैंक से पैसा निकालने के लिए भी जा सकते हैं।

क्यों किया जाता है लॉकडाउन

किसी शहर में रहने वाले वहां के स्थानीय लोगों को स्वास्थ्य से बचाव के लिए इसे लागू किया जाता है। फिलहाल इन दिनों कोरोना वायरस को देखते हुए इसे कई देशों में अपनाया जा रहा है। लेकिन ये इतना सख्ती से अभी लागू नहीं है। इसे सरकार के बजाय इस बार लोग खुद अपने पर लागू कर रहे हैं। बता दें कि इटली के कई इलाकों में खुद ही लोगों ने अपने आपको घरों में कैद कर लिया था। ताकि कोरोना की चपेट में वो लोग न आएं। तो वहीं जिन इलाकों में संक्रमित लोग ज्यादा मिल जाते हैं, वहां भी लॉकडाउन लागू कर दिया जाता है।

चीन सहित इन देशों में लॉकडाउन

कोरोना वायरस की वजह से चीन, डेनमार्क, लंदन, अमेरिका, अल सलवाडोर, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, न्यूजीलैंड, पोलैंड और स्पेन में लॉकडाउन जैसी स्थिति है। आपको बता दें कि चीन में ही सबसे पहले कोरोना संक्रमण का मामला सामने आया था, इसलिए सबसे पहले वहां लॉकडाउन किया गया। सरकार ने चीन में लोगों को एक तरह से हाउस अरेस्ट रहने के लिए कहा।

जब इटली में स्थिति इतनी चिंताजनक हो गई कि वहां हजारों की संख्या में संक्रमित लोग मिलने लगे। ऐसे में इटली के पीएम ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया। इटली की हालत देखते हुए स्पेन और फ्रांस ने भी कोरोना संक्रमण रोकने के लिए ये कदम उठाया।

ये भी पढ़ें:कोरोना वायरसः चीन में 41 नए संक्रमित मामले सामने आए

2020 से पहले भी हुआ है लॉकडाउन

सबसे पहले अमेरिका में 9/11 के आतंकी हमले के बाद पूरा देश लॉकडाउन किया गया। उस समय की सरकार ने वहां तीन दिन का लॉकडाउन किया गया था। दिसंबर 2005 में न्यू साउथ वेल्स पुलिस फोर्स ने दंगा रोकने के लिए लॉकडाउन किया था।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story