×

एंटिगा वनडे: चौथे वनडे मैच में छाया विंडीज, इंडिया को 11 रन से हराया

Updated on: 3 July 2017 3:40 AM GMT
एंटिगा वनडे: चौथे वनडे मैच में छाया विंडीज, इंडिया को 11 रन से हराया
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नार्थ साउंड (एंटिगा): सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेले जा रहे चौथे वनडे मैच में विंडीज द्वारा रखे गए 190 रनों के आसान से लक्ष्य के सामने भारतीय पारी लड़खड़ा गई।

इंडिया और विंडीज के बीच खेली जा रही पांच वनडे मैचों की सीरीज का चौथा मैच विंडीज ने जीत कर अपने नाम कर लिया है। इसमें विंडीज ने इंडिया को 11 रनों से हराकर सीरीज में वापसी कर ली है। वहीं इंडिया सीरीज में 2-1 से आगे है।

सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेले गए चौथे वनडे मैच में रविवार को विंडीज ने इंडिया के सामने 190 रनों का लक्ष्य रखा था। पर इस आसान लक्ष्य के सामने भी इंडिया 49.4 ओवरों में मात्र 178 रन ही बना पाई। पांचवा और आखिरी वनडे जमैका में 6 जुलाई को खेला जाएगा।

भारत ने शिखर धवन (5) और कप्तान विराट कोहली (3) के रूप में अपने दो विकेट खोए। धवन को तीसरे ओवर की पहली गेंद पर 10 के कुल स्कोर पर अल्जारी जोसेफ ने आउट किया। कोहली को विपक्षी कप्तान जेसन होल्डर ने 25 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेजा।

इससे पहले, विंडीज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी, लेकिन उसके बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों की सटीक लाइन-लेंग्थ के कारण खुलकर नहीं खेल पाए और मेजबान टीम पूरे 50 ओवर खेलने के बाद नौ विकेट खोकर 189 रन ही बना सकी।

विंडीज की शुरुआत बेहद धीमी रही। उसने अपने 50 रन पूरे करने के लिए 15.2 ओवर लिए। एविन लुइस (35) और काइल होप (35) की सलामी जोड़ी रनों के लिए संघर्ष कर रही थी। 57 के कुल स्कोर पर हार्दिक पांड्या ने इस जोड़ी को तोड़ा। उन्होंने काइल को केदार जाधव के हाथों कैच कराया।

बेहतरीन फॉर्म में चल रहे कुलदीप ने लुइस की पारी का अंत 80 के कुल योग पर किया। यहां से नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे।

रोस्टन चेस (24) रंग में आते इससे पहले ही कुलदीप ने उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया। शाई होप भी 25 रनों की अपनी पारी को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाए और पांड्या का दूसरा शिकार बने। वह 136 के कुल स्कोर पर आउट हुए।

कप्तान होल्डर ने 11 रनों का योगदान दिया। वह कुलदीप यादव की गेंद पर विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धौनी के हाथों लपके गए। कुछ देर बाद केरन पावेल (2) भी पवेलियन लौट गए।

एशले नर्स (4) और देबेंद्र बिशु 15 रनों का योगदान द सके। जोसेफ पांच और केसरिक विलियम्स दो रन बनाकर नाबाद लौटे।

भारत की तरफ से उमेश यादव और हार्दिक ने तीन-तीन विकेट लिए। कुलदीप को दो सफलता मिली। 2015 के बाद अपना पहला वनडे खेल रहे मोहम्मद शमी किफायती साबित हुए। उन्होंने अपने कोटे के 10 ओवरों में दो मेडेन ओवर फेंके और 33 रन दिए।

Next Story