Top

भुवनेश्वर की शादी में मौज, मस्ती और Barcode... जानिए क्यों !

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Nov 2017 7:39 PM GMT

भुवनेश्वर की शादी में मौज, मस्ती और Barcode... जानिए क्यों !
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ : टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार 23 नवंबर को अपनी बचपन की दोस्त नूपूर नागर के साथ शादी के बंधन में बंध जाऐंगे। भुवी की शादी होटल ब्रुावरा में होगी। कोलकाता से लौटते ही वह शादी की रस्मे पूरी कर रहे है। बुधवार को भात, महिला संगीत, म्यूजिकल शो और डिनर है। उनका ये कार्यक्रम गढ रोड स्थित होटल ब्रॉडवे में हो रहा है। आज उनकी मेंहदी की रस्म है। परिवार में शादी को लेकर खुशी का माहौल है। ​शादी की रस्मों के दौरान भुवी के माता-पिता जमकर संगीत की धुन पर थिरके।

चल रही शादी की तैयारी

-भुवनेश्वर की बहन रेखा अधाना का कहना है कि महिला संगीत को यादगार बनाने के लिए कई दिनों तैयारियां चल रही है। कार्यक्रम में भुवनेश्वर के ससुराल वाले भी शामिल होंगे।

-भुवनेश्वर के गंगानगर ​के जीपी कॉलोनी स्थित आवास पर महिला संगीत का आयोजन बडी ही धूमधाम से किया गया। -भुवनेश्वर की लग्न की रस्म की गई। वहीं होटल ब्रॉडवे इन में भात, महिला संगीत और डिनर रखा गया है।

-गुरूवार सुबह को भुवनेश्वर की घुडचढी होगी। बारात परतापुर बाईपास के होटल ब्रुावरा में जाएगी। दिन में शादी और शाम को रिशेप्शन होगा।

जगमगाया भुवी का घर

-गंगानगर में भुवी के घर को रंग-बिरंगी लाइटों और फूलों से सजाया गया है।

-लेडीज संगीत में दिल्ली की सिंगर कनिका गौड ने कार्यक्रम में चार चांद ​लगा दिए। जिसमें परिवार के लोग थिरकने पर मजबूर हो गए।

-23 नवंबर को होटल ब्रुावरा में दिन में भुवी और नुपुर की शादी का आयोजन धूमधाम से होगा। उसके बाद रात को रिसेप्शन होगा।

-शादी के रिसेप्शन में एंट्री के लिए बार कोड दिया गया है। जो मेहमानों और खास लोगों को शादी के कार्ड के साथ भेजा गया है। इस दौरान सुरक्षा के भी कडे इंतजाम रहेंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story