World Cup 2019 : भारत के सामने ये बनेगी बड़ी चुनौती, जानें पूरा मामला

भारतीय टीम का वर्ल्ड कप में अगला मुकाबला कल मैनचेस्टर में वेस्ट इंडीज से होना है। टीम इंडिया जिस शहर में हो तो बारिश उसका पीछा कैसे छोड़ सकती है। भले ही यह सही ना लगे, लेकिन भारतीय टीम टूर्नमेंट के दौरान जिस शहर में गई, वहां खराब मौसम भी साथ-साथ गया।

नई दिल्ली: भारतीय टीम का वर्ल्ड कप में अगला मुकाबला कल मैनचेस्टर में वेस्ट इंडीज से होना है। टीम इंडिया जिस शहर में हो तो बारिश उसका पीछा कैसे छोड़ सकती है। भले ही यह सही ना लगे, लेकिन भारतीय टीम टूर्नमेंट के दौरान जिस शहर में गई, वहां खराब मौसम भी साथ-साथ गया।

वर्ल्ड कप के अपने अगले मैच के लिए भारतीय टीम जब मैनचेस्टर पहुंची तो उसका स्वागत घने बादलों और तेज हवाओं ने किया। रविवार शाम से ही यहां बूंदाबादी हो रही है लेकिन मंगवार को लगातार बारिश होती रही। एक और प्रैक्टिस सेशन रद्द होने के चलते भारत को इंडोर अभ्यास करना।

‘मैच में बाधा नहीं बनेगी बारिश’
स्थानीय मौसम विभाग ने मंगलवार के लिए मैनटचेस्टर में भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी। हालांकि अगले दो दिनों के लिए मौसम बेहतर रहने की संभावना है। इसमें यह भी कहा गया है कि मैच वाले दिन यानी गुरुवार को धूप निकलेगी और इसी के चलते पूरे 50-50 ओवर का मैच होने की संभावना है।

ओल्ड ट्रैफर्ड में पाकिस्तान के खिलाफ 16 जून को खेले गए मुकाबले में भारत ने जीत दर्ज की लेकिन बारिश ने उस मैच में भी परेशान किया। वह मैच भी मैनचेस्टर में खेला गया था। इससे पहले न्यू जीलैंड के खिलाफ भी भारत के मैच को बारिश के कारण रद्द करना पड़ा था।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान के खिलाफ मैच से पहले कप्तान विराट कोहली ने दिया बड़ा बयान

ओल्ड ट्रैफर्ड से जुड़ा 1983 का इतिहास
मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में भारत-वेस्ट इंडीज से एक और इतिहास जुड़ा है। यह वही मैदान है जहां से 1983 के वर्ल्ड कप में भारत ने तब की सबसे मजबूत टीम मानी जाने वाली वेस्ट इंडीज को हराकर अपने अभियान का आगाज किया था। फिर लॉर्ड्स में भारत ने उसी साल इतिहास रचा और पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया। दिलचस्प है कि मंगलवार यानी 25 जून को उस ऐतिहासिक जीत के 36 साल पूरे हुए।

भारत को माना जा रहा मजबूत
फॉर्म के मुताबिक और वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन के बाद भारत को वेस्ट इंडीज के मुकाबले काफी मजबूत माना जा रहा है। भारत वर्ल्ड कप के मौजूदा एडिशन में अपना एक भी मैच नहीं हारा है, उसका एक मैच बारिश के चलते रद्द हुआ जिससे न्यूजीलैंड और भारत को 1-1 अंक मिला। हालांकि भारतीय टीम को क्रिस गेल और कंपनी से थोड़ी चिंता तो होगी जो अकेले दम पर मैच के परिणाम को बदलने का माद्दा रखते हैं।

ये भी पढ़ें…CWC2019: रिषभ पन्त जायेंगे लंदन पर नहीं खेलेंगे मैच

मिडिल ऑर्डर भारत की चिंता
मिडिल ऑर्डर भारत के लिए चिंता का विषय है। अफगानिस्तान के खिलाफ पिछले मैच में यह साफ तौर पर देखने को भी मिला। जेसन होल्डर की कप्तानी वाली टीम वेस्ट इंडीज के खिलाफ मैच ओल्ड ट्रैफर्ड में होना है जो रन बनाने के लिहाज से बेहतर माना जाता है। बल्लेबाज ज्यादा आजाद होकर अपने पसंदीदी स्ट्रोक खेलते नजर आ सकते हैं।

धोनी पर रहेंगी नजरें
पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में बल्ले से कमाल नहीं दिखा पाए थे और धीमी पारी खेलने के चलते उनकी काफी आलोचना हुई थी। दिग्गज सचिन तेंडुलकर ने भी उन्हें और केदार जाधव को निशाने पर लिया था। हो सकता है कि टीम मैनेजमेंट उन्हें नंबर-4 पर भेजे ताकि वह और ज्यादा मैदान पर समय बिता सकें।

ये भी पढ़ें…वर्ल्ड कप में इस खिलाड़ी ने रचा इतिहास, 1 पारी में ठोके 17 छक्के