क्रिकेट इतिहास का सबसे बड़ा ‘धोखा’, ग्रेग चैपल के कारण ICC को बदलना पड़ा रूल

क्रिकेट में खिलाड़ियों द्वारा कभी-कभी कुछ ऐसे कारनामें हो जाते हैं, जिन्हे आप लंबे समय तक याद रखते हैं। इसके साथ ही कुछ गेंदें ऐसी भी होती हैं, जो आपको लंबे समय तक याद रहती हैं।

नई दिल्ली: क्रिकेट में खिलाड़ियों द्वारा कभी-कभी कुछ ऐसे कारनामें हो जाते हैं, जिन्हे आप लंबे समय तक याद रखते हैं। इसके साथ ही कुछ गेंदें ऐसी भी होती हैं, जो आपको लंबे समय तक याद रहती हैं। लेकिन इनमें से बहुत कम ऐसी होती हैं, जो इतिहास में दर्ज हो जाती हैं। ऐसी ही गेंद थी- अंडरआर्म। इसे क्रिकेट के इतिहास की सबसे ‘बदनाम’ गेंद नाम से जाना जाता है।

ये भी पढ़ें: भयावह आवाजों से दहला शहर: घरों से बाहर निकले डरे-सहमें लोग, मची भगदड़

अंडरआर्म बॉलिंग की यह घटना 1 फरवरी 1981 की है। इस दिन क्रिकेट के इतिहास की सबसे ‘बदनाम’ गेंद फेंकी गई थी। इस दिन खेल के दौरान गेंदबाज ने बल्लेबाज की तरफ गेंद को सिर्फ लुढ़काभर दी थी। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच बेनसन ऐंड हेजेज वर्ल्ड सीरीज कप के पांच फाइनल मुकाबलों का यह तीसरा मैच था। मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेले गए इस मैच में आखिरी गेंद फेंकी जा रही थी। न्यू जीलैंड को मैच टाई करने के लिए 6 रनों की जरूरत थी।

…जिसके बाद क्रिकेट शर्मसार हो गया

ऑस्ट्रेलिया यह मैच हारना नहीं चाहता था। ऐसे में उनके कप्तान ग्रेग चैपल ने गेंदबाज ट्रेवर चैपल, जो उनके छोटे भाई भी थे, को अंडरआर्म गेंद फेंकने को कहा। दोनों भाइयों (ग्रेग और ट्रेवर चैपल) ने मैदान पर ऐसी चाल चली कि क्रिकेट शर्मसार हो गया। ट्रेवर के इस ऐक्शन को खेल की भावनाओं के विपरीत माना गया। हालांकि ऑस्ट्रेलिया ने 6 रन से मैच तो जीत गया पर यह ‘दाग’ हमेशा के लिए उसके साथ जुड़ गया।

ये भी पढ़ें: BJP के खिलाफ प्रियंका का हल्ला बोल, 50 हजार कांग्रेस कार्यकर्ता करेंगे ये काम

इसके बाद बल्लेबाज ने गुस्से में बल्ले को जमीन पर फेंक दिया, क्योंकि उसके पास छक्का लगाकर मैच टाई करने का मौका था, लेकिन अंडरआर्म बॉलिंग की वजह वह कोशिश नहीं कर पाए। आखिरकार इस मैच को ऑस्ट्रेलिया ने 6 रनों से जीत लिया।

ये भी पढ़ें: अम्फान ने बंगाल-ओडिशा में मचाई भीषण तबाही, बर्बादी का मंजर देख कांप जाएगी रूह

दोस्तों देश-दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।