गजब! ये तो दोनो हाथों से गेंदबाजी कर ले लेता है विकेट बच के रहना

दोनों हाथों से गेंदबाजी करने में माहिर रहे हैं। इस लिस्ट में भारत के अक्षय कर्नेवार भी शामिल रहे हैं। अक्षय के अलावा यासिर, हनीफ मोहम्मद और हसन तिलकरत्ने भी इस कतार में शामिल रहे हैं। लेकिन आज हम बात कर रहे हैं एक नए उदीयमान खिलाड़ी ग्रेगरी माहलोक्वाना की।

विश्व क्रिकेट में यूं तो तमाम प्रतिभाशाली खिलाड़ी हुए हैं, जिन्होंने अपने बेहतरीन अंदाज और प्रदर्शन से दुनिया को अपना लोहा मनवाया है। लेकिन हम यहां अपनी हरकतों और बोलों से चर्चा में बने रहने वाले खिलाड़ियों की नहीं लीक से हटकर कुछ कर दिखाने वालों की बात कर रहे हैं। बात अगर गेंदबाजी और गेंदबाजों की करें तो कुछ गेंदबाज ऐसे भी हुए हैं जो दोनों हाथों से गेंदबाजी करने में माहिर रहे हैं। इस लिस्ट में भारत के अक्षय कर्नेवार भी शामिल रहे हैं। अक्षय के अलावा यासिर, हनीफ मोहम्मद और हसन तिलकरत्ने भी इस कतार में शामिल रहे हैं। लेकिन आज हम बात कर रहे हैं एक नए उदीयमान खिलाड़ी ग्रेगरी माहलोक्वाना की।

इसे भी पढ़ें- Good News: क्रिकेटर हर्षल पटेल के बारे में ये बातें नहीं जानते होंगे आप

दोनों हाथों से गेंदबाजी की महारत

आपने दोनों हाथों से बैटिंग करने वाले बल्लेबाज तो देखे होंगे मगर शायद दोनों हाथों से गेंदबाजी करने वाला खिलाड़ी नहीं देखा होगा। यदि किसी बल्लेबाज के पास कला होती है कि वो बीच मैच में दाएं हाथ से भी बल्लेबाजी कर सकता है और बाएं हाथ से भी बल्लेबाजी कर सकता है। अब एक ऐसा गेंदबाज भी सामने आया है जो बड़े आराम से दोनों हाथों से गेंदबाजी करने में सक्षम है। इसका नजारा दक्षिण अफ्रीका में खेली जा रही टी 20 मजांसी सुपर लीग में देखा गया जहां एक गेंदबाज ने दोनों हाथों से गेंद फेंकी और विकेट भी चटकाए।

इसे भी पढ़ें- बरसे चौके-छक्के! भारतीय क्रिकेट टीम ने मैदान में दिखाया अपना प्रदर्शन

कमाल के गेंदबाज हैं ग्रेगरी

दरअसल, दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर ग्रेगरी माहलोक्वाना कमाल के गेंदबाज हैं। इन दिनों उनकी गेंदबाजी सुर्खियों में बनी हुई है। दक्षिण अफ्रीका की टी 20 लीग मजांसी सुपर लीग में केपटाउन ब्लिट्ज की ओर से खेलने वाले ग्रेगरी माहलोक्वाना को दोनों हाथ से गेंद फेंकने में महारत हासिल है। डरबन हीट के खिलाफ मैच में उन्होंने अपनी इस प्रतिभा का लोहा मनवाया। उन्होंने दाएं और बाएं दोनों हाथ से गेंद फेंककर विकेट भी चटकाए।

दोनों हाथों से विकेट चटखाए

स्पिन गेंदबाज ग्रेगरी माहलोक्वाना ने मुकाबले में केपटाउन की टीम की ओर से शिरकत की। उन्होंने आठवें ओवर में दाएं हाथ से गेंदबाजी की। इस ओवर में ग्रेगरी माहलोक्वाना ने सारेल इर्वी को अपना शिकार बनाया। इर्वी शॉर्ट मिड ऑफ पर कैच आउट हुए। सारेल इर्वी 16 रन बना माहलोक्वाना का शिकार बने। इसके बाद उन्होंने बाएं हाथ से गेंदबाजी की। मजे की बात यह रही कि बाएं हाथ से गेंदबाजी करते हुए भी उन्होंने विकेट चटखाने में कामयाबी हासिल की।

इसे भी पढ़ें- क्रिकेट पर फिक्सिंग का छाया! इस भारतीय क्रिकेटर का आया नाम, सभी हुए हैरान

विरोधी कप्तान को किया बोल्ड

अपने कोटे के अगले ही ओवर में यानी पारी के 10वें ओवर में ग्रेगरी माहलोक्वाना ने डरबन टीम के कप्तान डेन विलास को बोल्ड किया। डरबन की टीम ने टॉस जीतकर केपटाउन को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। केपटाउन ने 20 ओवर में छह विकेट पर 174 रन बनाए। जवाब में डरबन की टीम ने भी अच्छी बल्लेबाजी की मगर सात विकेट पर 164 रन ही बना सकी। इस तरह केपटाउन की टीम ने यह मैच 10 रन से जीत लिया। केपटाउन की कप्तानी क्विंटन डिकॉक कर रहे हैं।