INDvsNZ: मान ली होती दादा की यह सलाह, तो कल ही जीत जाता भारत…

क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 में मैचों पर बारिश का साया पड़ गया है। इंडिया और न्‍यूजीलैंड के बीच सेमीफाइनल मैच को भी बरसात की वजह से रोकना पड़ा। न्‍यूजीलैंड की पारी के 47वें ओवर में बारिश जिसकी वजह से दोनों टीमें मैदान से बाहर हो गई।

cricket world cup 2019

cricket world cup 2019

नई दिल्ली : क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 में मैचों पर बारिश का साया पड़ गया है। इंडिया और न्‍यूजीलैंड के बीच सेमीफाइनल मैच को भी बरसात की वजह से रोकना पड़ा। न्‍यूजीलैंड की पारी के 47वें ओवर में बारिश जिसकी वजह से दोनों टीमें मैदान से बाहर हो गई। जिस समय मैच रोका गया उस समय टीम का स्‍कोर 5 विकेट पर 211 रन था। रोस टेलर और टॉम लाथम नाबाद बल्‍लेबाज थे। जिस समय मैच रोका गया उसके बाद से बारिश में तेजी देखी गई है।

लगभग एक घंटे तक घनघोर बारिश हुई और मैदान में पानी भर गया। हालांकि पिच और उसके आसपास की जगह को कवर किया गया है लेकिन बाकी का मैदान कवर नहीं किया गया। ऐसे में डर यह है कि अगर आउटफील्‍ड समय पर नहीं सूख पाई तो मैच नहीं हो पाएगा। इंडिया और न्‍यूजीलैंड के बीच लीग स्‍टेज का मैच इसी वजह से नहीं हो पाया था।

यह भी देखें… आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 : वर्ल्ड कप हम ही ले जाएंगे

टूर्नामेंट के शुरुआती 18 मैचों में से चार मैच बारिश के चलते रद्द हो गए हैं। इनमें से ज्‍यादातर मैच समय पर आउटफील्‍ड के नहीं सूखने की वजह से रद्द हुए थे। इस वजह से आईसीसी और मेजबान इंग्‍लैंड व वेल्‍स क्रिकेट बोर्ड की काफी आलोचना हुई थी।

लीग के दौर में जब बारिश के चलते मैच रद्द हो रहे थे तब इंडिया के पूर्व कप्‍तान और दिग्‍गज क्रिकेटर सौरव गांगुली ने आउटफील्‍ड को खराब होने से बचाने का उपाय बताया था। लेकिन इंडिया और न्‍यूजीलैंड के मैच के बाद बारिश आई तब सामने आया कि इंग्‍लैंड बोर्ड ने गांगुली के उपाय को नहीं अपनाया।

पूरे मैदान को ढककर करें कवर

सौरव गांगुली ने सुझाव दिया था कि आउटफील्‍ड को खराब होने से बचाने के लिए पूरे मैदान को कवर्स से ढकना चाहिए। उन्होंने कोलकाता के ईडन गार्डंन पर इस्तेमाल किए जाने वाले कवर्स का हवाला देते हुए यह बात कही।

सौरव गांगुली ने बताया कि ईडन पर इस्तेमाल किए जाने वाले कवर्स इंग्लैंड से ही मंगाए गए। अगर इन कवर्स का इंग्लैंड में ही इस्तेमाल करेंगे तो यह आधी कीमत पर उपलब्‍ध होंगे और टैक्स फ्री रहेंगे।

यह भी देखें… #INDvNZ: बल्लेबाजी या बारिश? क्या हो पायेगा आज मैनचेस्टर में मैच

गांगुली के अनुसार, भारत में हम सभी मैचों के लिए इन कवर्स का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में जब बारिश रुकती है तो दस मिनट के अंदर ही मैच शुरू किया जा सकता है। पहले जो नीले कवर्स इस्तेमाल होते थे, उनकी तुलना में दस गुना अधिक वक्त बचता है। हल्के होने के चलते सूरज की रोशनी भी इन कवर्स के आर-पार होती है, जिससे मैदान सुखाने में मदद मिलती है।

दादा ने ही की थी पूरा मैदान ढकने की शुरुआत

बारिश के दौरान पहले सिर्फ पिच और 30 यार्ड के सर्कल का एरिया ही कवर्स से ढका जाता था। मगर बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) का अध्यक्ष पद संभालने के बाद गांगुली ने ही बारिश में पूरे मैदान को हल्के कवर्स से ढकने की शुरुआत की। इसका काफी फायदा भी देखने को मिला।

यह भी देखें… आज खेला जाएगा भारत-न्यूजीलैंड सेमीफाइनल का बाकी बचा मैच, न्यूजीलैंड का स्कोर 46 ओवर में 211/5 रन

सौरव गांगुली ने बताया कि ईडन गार्डंस में इस्तेमाल किए जाने वाले कवर्स इंग्लैंड में लॉर्ड्स स्टेडियम में भी इस्तेमाल होते हैं। उनके अनुसार, अगर इन कवर्स का इस्तेमाल आउटफील्ड ढकने के लिए भी किया जाए तो घास का रंग बदलकर भूरा नहीं होगा।