Top

पिता की मौत के बाद भी नहीं टूटा इस खिलाड़ी का हौसला, भारत को बनाया चैंपियन

एफआईएच सीरीज के फाइनल में भारत ने जापान को 3-1 से मात देकर सीरीज पर कब्जा कर लिया। लेकिन भारत की इस जीत से ज्यादा चर्चा इंडियंस वुमन्स हॉकी टीम की प्लेयर लालरेमसियामी के हो रही है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 26 Jun 2019 11:56 AM GMT

पिता की मौत के बाद भी नहीं टूटा इस खिलाड़ी का हौसला, भारत को बनाया चैंपियन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत के युवा किसी भी मामले में दुनिया के किसी भी देश के युवाओं से कम नहीं है। तमाम देशों के लोग भारतीय युवाओं के जोश और उनके समर्पण के न सिर्फ मुरीद है बल्कि उनका लोहा भी मानते हैं। भारतीय युवाओं के हौसले और जज्बातों की एक झलक हिरोशिमा में खेले गए एफआईएच हॉकी टूर्नामेंट के दौरान देखने को मिली।

एफआईएच सीरीज के फाइनल में भारत ने जापान को 3-1 से मात देकर सीरीज पर कब्जा कर लिया। लेकिन भारत की इस जीत से ज्यादा चर्चा इंडियंस वुमन्स हॉकी टीम की प्लेयर लालरेमसियामी के हो रही है।

ये भी पढ़ें...इन तीन बच्चों ने एशियन गेम में देश का नाम किया रोशन

दरअसल फाइनल मैच से दो दिन पहले टीम की सदस्य लालरेमसियामी के पिता लालथनसंगा जोट का हार्ट अटैक से निधन हो गया था। फिर भी उन्होंने हिरोशिमा में फाइनल मैच खेला। भारत ने मेजबान जापान को 3-1 से हराकर टूर्नामेंट जीता।

मिजोरम के कोलासिब जिले की रहने वाली लालरेमसियामी पिता की मौत की खबर मिलने के बावजूद भी अपने घर वापस नहीं गई और देश के प्रति अपने कर्तव्य का पालन करते हुए शनिवार को चिली के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले को खेलने के लिए मैदान पर उतरीं।

सेमीफाइनल मुकाबले में टीम इंडिया ने चिली को 4-2 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई थी। इसके बाद फाइनल में भारत ने मेजबान जापान को 3-1 से हराकर टूर्नामेंट अपने नाम कर लिया।

भारतीय टीम ने अपनी इस जीत को साथी खिलाड़ी लालरेमसियामी के पिता को समर्पित किया है। जिनका शुक्रवार सुबह देहांत हो गया था। इसके साथ ही भारतीय महिला हॉकी टीम ने एफआईएच ओलिंपिक क्वालिफायर-2019 के लिए भी जगह पक्की कर ली। इस जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय महिला टीम को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया- असाधारण खेल, शानदार परिणाम।

ये भी पढ़ें...मुश्किल में थी टीम इंडिया, एक बाउंसर ने तोड़ा जंबो का जबड़ा और फिर …

लालरेमसियामी के इस जज्बे को हर कोई सलाम कर रहा है। फाइनल मैच से दो दिन पहले टीम की सदस्य लालरेमसियामी के पिता लालथनसंगा जोट का हार्ट अटैक से निधन हो गया था। फिर भी उन्होंने हिरोशिमा में फाइनल मैच खेला।

भारत ने मेजबान जापान को 3-1 से हराकर टूर्नामेंट जीता। केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने भी ट्वीट के जरिए लालरेमसियामी के मैच खेलने के फैसले की सराहना की थी। टूर्नामेंट जीतकर मंगलवार को जब लालरेमसियामी अपने गांव वापस लौटी तो गांववालों ने जोर शोर से उनका स्वागत किया और उनकी इस जीत के लिए उन्हें सम्मानित भी किया गया।

ये भी पढ़ें...सीमा पर टेंशन के बीच पीएम मोदी का ये बयान हौसला कर देगा बुलंद

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story