Top

विंबलडन: फेडरर को हराकर 5वीं बार चैंपियन बने नोवाक जोकोविच

फेडरर इस सेट में कितने हावी थे इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है। जोकोविच ने पहले सेट में 14 विनर लगाये थे लेकिन दूसरे सेट में केवल दो विनर लगा पाये। जोकोविच तीसरे सेट में भी ब्रेक प्वाइंट लेने के करीब नहीं पहुंचे लेकिन टाईब्रेकर में वह फिर से अव्वल साबित हुए।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 15 July 2019 3:31 AM GMT

विंबलडन: फेडरर को हराकर 5वीं बार चैंपियन बने नोवाक जोकोविच
X
विंबलडन: फेडरर को हराकर 5वीं बार चैंपियन बने नोवाक जोकोविच
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लंदन: नोवाक जोकोविच ने दो मैच प्वाइंट बचाये और रविवार को यहां रोजर फेडरर को पांच सेट तक चले सबसे लंबे और रोमांचक फाइनल में 7-6 (5), 1-6, 7-6 (4), 4-6, 13-12 (3) से हराकर पांचवी बार विंबलडन खिताब जीता। यह मैच चार घंटे 55 मिनट तक चला। फेडरर ने बेहतर खेल दिखाया लेकिन जोकोविच ने तीनों सेट टाईब्रेकर में जीतकर अपना 16वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीता।

यह भी पढ़ें: CWC19 Final: बेन स्टोक्स और ‘बाउंड्री’ के दम पर इंग्लैंड बना वर्ल्ड चैंपियन

फेडरर और जोकोविच तीसरी बार विंबलडन फाइनल में आमने सामने थे। इससे पहले 2014 और 2015 में भी जोकोविच जीत हासिल करने में सफल रहे थे। पहले सेट में दोनों खिलाड़ियों ने अपनी सर्विस बचाये रखी। इस दौरान केवल फेडरर को 2-1 के स्कोर पर एक बार ब्रेक प्वाइंट का मौका मिला था लेकिन तब उनका फोरहैंड बाहर चला गया।

रोजर फेडरर लगातार चार अंक थे आगे

टाईब्रेकर में फेडरर लगातार चार अंक बनाने के बाद 5-3 से आगे थे लेकिन अगले तीन अवसरों पर उनका फोरहैंड कारगर साबित नहीं हुआ जबकि मैच प्वाइंट पर उन्होंने बैकहैंड बाहर मार दिया जिससे जोकोविच शुरू में बढ़त बनाने में सफल रहे। दूसरे सेट में हालांकि फेडरर ने शुरू से ही हावी हो गये। उन्होंने जोकोविच की शुरुआती दोनों सर्विस तोड़कर 4-0 से बढ़त बना ली। इसके बाद उन्होंने सातवें गेम में ‘लव’ पर ब्रेक प्वाइंट लिया और मैच को बराबरी पर ला दिया।

यह भी पढ़ें: तकनीकी खामी के कारण टला चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण, जल्द होगा नई तारीख का ऐलान

फेडरर इस सेट में कितने हावी थे इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है। जोकोविच ने पहले सेट में 14 विनर लगाये थे लेकिन दूसरे सेट में केवल दो विनर लगा पाये। जोकोविच तीसरे सेट में भी ब्रेक प्वाइंट लेने के करीब नहीं पहुंचे लेकिन टाईब्रेकर में वह फिर से अव्वल साबित हुए। फेडरर के पास 5-4 के स्कोर पर जोकोविच की सेट पर एक सेट प्वाइंट भी था लेकिन उनका बैकहैंड रिटर्न बाहर चला गया। टाईब्रेकर में जोकोविच ने 5-1 से बढ़त बनायी और फेडरर का फोरहैंड नेट पर लगने से उन्होंने यह सेट अपने नाम किया।

रोजर फेडरर चौथे सेट फिर से हावी हो गये

फेडरर चौथे सेट फिर से हावी हो गये। उन्होंने दो बार जोकोविच की सर्विस तोड़कर 5-2 से बढ़त बनायी लेकिन जब वह सेट के लिये सर्विस कर रहे थे तो पहली बार उन्होंने अपनी सर्विस गंवायी। फेडरर ने हालांकि अपनी सर्विस पर ‘लव’ पर जीत दर्ज करके सेट अपने नाम किया और इस तरह से मैच को निर्णायक सेट तक खींचा।

यह भी पढ़ें: 2 घंटे 59 मिनट के चंद्रगहण के बाद व पहले करना होगा यह सब काम

नोवाक जोकोविच ने निर्णायक सेट में दिखाया कमाल

पांचवें और निर्णायक सेट में जोकोविच ने फेडरर की सर्विस तोड़कर 4-2 से बढ़त बनायी लेकिन स्विस खिलाड़ी ने तुरंत ही वापसी की और ब्रेक प्वाइंट लेकर जल्द ही स्कोर 4-4 से बराबर कर दिया। फेडरर ने 15वें गेम में जोकोविच की सर्विस तोड़ने में सफल रहे। इसके बाद उनके पास दो मैच प्वाइंट थे लेकिन सर्बियाई खिलाड़ी ने हार नहीं मानी और शानदार वापसी करके स्कोर 8-8 से बराबरी पर ला दिया। इसके बाद नये नियमों के अनुसार 12-12 पर टाईब्रेकर हुआ जिसमें फिर से जोकोविच ने बाजी मारी।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story