Top

रवि शास्त्री बोले- ऋषभ पंत नहीं, यह खिलाड़ी है चौथे नंबर के लिए सर्वश्रेष्ठ  

रवि शास्त्री टीम इंडिया के लिए फिर से कोच की भूमिका में नज़र आएंगे। उनका कार्यकाल अगले दो साल के लिए बढ़ गया है। अब उनके सामने वही समस्याएँ फिर से आएँगी जिससे भारतीय टीम गुज़र रही है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 20 Aug 2019 2:19 PM GMT

रवि शास्त्री बोले- ऋषभ पंत नहीं, यह खिलाड़ी है चौथे नंबर के लिए सर्वश्रेष्ठ  
X
रवि शास्त्री बोले- ऋषभ पंत नहीं, यह खिलाड़ी है चौथे नंबर के लिए सर्वश्रेष्ठ  
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

स्पोर्ट्स डेस्क: रवि शास्त्री टीम इंडिया के लिए फिर से कोच की भूमिका में नज़र आएंगे।

उनका कार्यकाल अगले दो साल के लिए बढ़ गया है। अब उनके सामने वही समस्याएँ फिर से आएँगी जिससे भारतीय टीम गुज़र रही है।

इस वक़्त अगर बात करें तो भारतीय टीम के लिए सबसे बड़ी समस्या नंबर चार के बल्लेबाज़ के रूप में बनी हुई है।

इस नंबर पर मौजूद विकेटकीपर बल्लेबाज़ ऋषभ पंत भी फेल रहे हैं ।

इस संदर्भ में टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी बड़ी बात कही है। ख़बरों की माने तो भारतीय टीम के कोच ने नंबर चार के लिए उपयुक्त खिलाड़ी की तलाश कर ली है।

पढ़ें...

साल 2021 तक रवि शास्त्री बने रहेंगे भारतीय क्रिकेट टीम के कोच

रवि शास्त्री ही बने रहेंगे टीम इंडिया के कोच

विश्व कप 2019: रवि शास्त्री का विवादित बयान, इसलिए हारी इंडिया

चौथे नंबर पर श्रेयस अय्यर:

ख़बरों की माने तो शास्त्री ने कहा कि पिछले दो साल से हमने अधिक से अधिक युवा खिलाड़ियों को मौके देने पर ध्यान केंद्रित किया है। उदाहरण के तौर पर श्रेयस अय्यर अब चौथे नंबर पर खेलेंगे।

गौरतलब है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के आखिरी दो मुकाबले में अय्यर ने नंबर 4 पर बल्लेबाज़ी की और उन्होंने लगातार दो अर्धशतक भी लगाए।

पढ़ें...

कोच रवि शास्त्री ने कुलदीप यादव को लेकर दिया बड़ा बयान, हो सकता है बवाल

कोच रवि शास्त्री ने कुलदीप यादव को लेकर दिया बड़ा बयान, हो सकता है बवाल

विराट कोहली भी कर चुके हैं प्रशंसा:

रवि शास्त्री ही नहीं कप्तान विराट कोहली भी श्रेयस अय्यर की प्रशंसा कर चुके हैं।

विंडीज के खिलाफ तीसरे वनडे मुकाबले के बाद कप्तान ने कहा था कि “श्रेयस इन हालात में प्रदर्शन करने की अहमियत समझते हैं।

जब मैं टीम इंडिया में आया था तो ऐसे ही खेला करता था।

मैं खुद को मिले हर मौके को भुनाते हुए टीम को जीत दिलाने की कोशिश करता था।

श्रेयस अय्यर दबाव में बहादुरी से खेले। आपको खुद ही ये एहसास करने की जरूरत है कि आप कैसा खेलते हैं और आप किस तरह के खिलाड़ी हैं।”

मध्यक्रम की पहेली पर कोहली ने कहा था कि अगर श्रेयस अय्यर ऐसा ही प्रदर्शन जारी रखते हैं तो मध्यक्रम के मजबूत दावेदार हो सकते हैं।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story