Top

वसीम जाफर ने क्रिकेट को कहा अलविदा, घरेलू क्रिकेट के 'तेंदुलकर' के नाम से हैं मशहूर

वसीम जाफर ने 1996 से 2020 तक करीब 24 साल फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेली है। 42 साल के वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी 2019-20 के सीजन में भी कई मैचों में हिस्सा लिया था। वसीम ने 260 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं, जिनमें 19410 रन 50.67 के औसत से बनाए हैं।

suman

sumanBy suman

Published on 7 March 2020 6:28 PM GMT

वसीम जाफर ने क्रिकेट को कहा अलविदा, घरेलू क्रिकेट के तेंदुलकर के नाम से हैं मशहूर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नईदिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज वसीम जाफर ने शनिवार को हर तरह की क्रिकेट से संन्यास का एलान कर दिया है। वसीम जाफर ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 20 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं। यहां तक कि भारत में खेली जाने वाली मल्टी डेज क्रिकेट यानी रणजी ट्रॉफी में भी वे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

जाफर ने कहा-

वसीम जाफर ने कहा है, "मैं बीसीसीआइ, मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन और विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन को धन्यवाद कहना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया। मेरे लिए सम्मान और गर्व की बात है कि मैंने राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, अनिल कुंबले, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग और एमएस धौनी जैसे खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर किया।"

यह पढ़ें...Women Day 2020 होगा बेहद ख़ास: T20 विश्व कप जीत कर हरमनप्रीत देंगी गिफ्ट

26, 213 रन बनाए

भारतीय टीम के लिए सलामी बल्लेबाजी का मोर्चा संभाल चुके मुंबई के इस खिलाड़ी ने 41 साल की उम्र में क्रिकेट को अलविदा कहा। भारतीय टीम के लिए 2000 में डेब्यू करने वाले जाफर ने 31 टेस्ट में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए एक दोहरा शतक, पांच शतक और 11 अर्धशतकों के बूते 1944 रन बनाए थे। 2006 में वेस्टइंडीज के खिलाफ सेंट जोंस में उन्होंने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ 212 रन की पारी खेली थी। हालांकि उन्हें सिर्फ दो ही वन-डे में खेलने का मौका मिला। 2008 में आखिरी बार टीम इंडिया के लिए खेलने के बाद वह प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक्टिव हो गए। वहां उन्होंने जमकर बवाल मचाया। अपने पूरे करियर में वसीम जाफर ने 434 मैच (टेस्ट, वन-डे, प्रथम श्रेणी, लिस्ट ए) खेलते हुए 72 शतक और 26, 213 रन बनाए।

यह पढ़ें... साड़ी में मिताली राज, क्रिकेट मैदान पर दिखा ऐसा जलवा…

घरेलू क्रिकेट का भगवान

कई रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले जाफर का जन्म 16 फरवरी 1978 को मुंबई में हुआ था। दाएं हाथ के इस शानदार बल्लेबाज को डोमेस्टिक इंडियन क्रिकेट का भगवान भी कहा जाता है। करीब दो दशक तक खेलने के बाद भी इस खिलाड़ी के भीतर कभी रन बनाने की भूख खत्म नहीं हुई। 1996/97 में मुंबई की ओर से अपना करियर शुरू करने वाले वसीम ने 9 दिसंबर 2019 को घरेलू क्रिकेट का सबसे बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम किया था। 41 साल की उम्र में 2019-20 का सीजन खेलते हुए जाफर 150 रणजी मैच खेलने वाले भारत के पहले और इकलौते क्रिकेटर बने थे।

वसीम जाफर ने 1996 से 2020 तक करीब 24 साल फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेली है। 42 साल के वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी 2019-20 के सीजन में भी कई मैचों में हिस्सा लिया था। वसीम ने 260 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं, जिनमें 19410 रन 50.67 के औसत से बनाए हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में वसीम जाफर ने 57 शतक और 91 अर्धशतक ठोके हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 314 रन है, जबकि टेस्ट क्रिकेट में उनका हाइएस्ट स्कोर 212 रन था।

suman

suman

Next Story