Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

जानिए जब युवराज की वजह से धोनी को नहीं मिली थी बल्लेबाजी

2011 के क्रिकेट विश्व कप में भारतीय टीम की नायक रहे शानदार ऑलराउंडर युवराज सिंह ने संन्यास ले लिया है। युवराज सिंह ने कहा कि मैंने कभी किसी चुनौती के आगे हार नहीं मानी चाहे वो क्रिकेट का मैच रहा हो या फिर कैंसर जैसी बीमारी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 10 Jun 2019 11:40 AM GMT

जानिए जब युवराज की वजह से धोनी को नहीं मिली थी बल्लेबाजी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: 2011 के क्रिकेट विश्व कप में भारतीय टीम की नायक रहे शानदार ऑलराउंडर युवराज सिंह ने संन्यास ले लिया है। युवराज सिंह ने कहा कि मैंने कभी किसी चुनौती के आगे हार नहीं मानी चाहे वो क्रिकेट का मैच रहा हो या फिर कैंसर जैसी बीमारी।

आज हम आपको कैप्टन कूल कहे जाने वाले महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह के बीच हुआ एक किस्से के बारे में बताते हैं। धोनी पर बनी फिल्म एमएस धोनी में धोनी ने खुद यह राज खोला। फिल्म में धोनी अपने दोस्तों से रणजी ट्रॉफी के एक मैच में युवराज सिंह की बल्लेबाजी का जिक्र करते हुए नजर आते हैं।

यह भी पढ़ें...ये चिप पढ़ेगा मनुष्य का दिमाग, चीन ने किया इसका इजाद, जानिए क्या होंगे लाभ

धोनी बताते हैं कि एक मैच के दौरान पंजाब टीम का 60 रन पर पहला विकेट गिर जाता है जिसके बाद युवराज सिंह बल्लेबाजी करने आते हैं। दूसरे दिन का स्कोर 108 रन पर एक विकेट पर रहता है।

धोनी आगे उस रणजी मैच का जिक्र करते हुए कहते हैं कि तीसरे दिन पंजाब का सिर्फ एक विकेट ही गिरता है और उनका स्कोर 431 रन पर 2 विकेट हो जाता है। युवराज सिंह दोहरा शतक लगाते हैं। कहते हैं- 'बहुत मारा धागा खोल दिया एकदम। चौथे और आखिरी दिन पंजाब का स्कोर 839 रन। युवराज ने अकेले 358 रन बनाए।

यह भी पढ़ें...क्या आपको पता है दो अलग-अलग कालों को देखा है इन धर्म ग्रंथों के इन पात्रों ने

हमको सेकेंड इनिंग ही नहीं मिला.' धोनी बताते हैं कि युवराज ने उस मैच में जितने रन बनाए वह बिहार के टोटल स्कोर से भी एक रन ज्यादा थे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story