Krishnanda Rai

इस मामले को स्पेशल जज अरुण भारद्वाज ने भयानक बताया। उन्होंने फैसले में यह भी बताया कि इस मामले की जांच सीबीआई को यूपी पुलिस से लेकर दी गई थी। वहीं, 2013 में गाजीपुर से यह केस दिल्ली ट्रांसफर किया गया था।