pregnancy

रामकृष्ण वाजपेयी पूरी दुनिया इस समय वायु प्रदूषण बढ़ाने वाले विभिन्न कारकों से परेशान है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा है कि हमारा ग्रह जल रहा है, जलवायु संकट बढ़ता जा रहा है। वायु प्रदूषण न सिर्फ बड़ों को प्रभावित कर रहा है बल्कि अब इसकी चपेट में देश का भविष्य यानी …

प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं में बहुत से चेंजेज आते हैं। ये बदलाव शारीरिक और मानसिक दोनों रूप में होते हैं। प्रेग्नेंसी पीरियड से बाहर निकलने के बाद नवजात की तरह मां की देखभाल की भी जरूरत होती है।

महिलाओं के गर्भावस्था में आने से उनके शारीर में काफी बदलाव आ जाते हैं। और तो और डिलीवरी के बाद तो उनका अचानक से काफी वजन भी बढ़ जाता हैं।

कल्कि कोचलिन ने अपने प्रेग्नेंट होने की खबर एक इंटरव्यू के दौरान कही थी। फिलहाल कल्कि प्रेग्नेंसी को 6 महीने हो चुके हैं। हाल में वो सोशल मीडिया पर अपना बेबी बंप फ्लॉट करते हुए दिखी थी। इसके बाद कल्कि अपनी प्रेग्नेंसी की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट की जिसके बाद फैंस सहित कई सेलेब्स ने उन्हें बधाई दी।

नई दिल्ली : प्रेग्नेंसी में ब्लड प्रेशर से लेकर शुगर लेवल- सबमें भी उतार-चढ़ाव होता है। कई बार शुगर लेवल भी बढ़ जाता है जिससे बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए इनका रेग्युलर चेकअप कराएं। इस दौरान आप जो खाती हैं उसका सीधा असर होने वाले बच्चे पर पड़ता है। हरी सब्जियां, …

अमेरिका की जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी (जीडब्ल्यू) के शोधकर्ताओं ने बताया कि बेबीस्क्रिप्ट्स ऐप का निर्माण शैक्षणिक विषयवस्तु प्रदान करने और दूर रहकर ही रक्त चाप और वजन की निगरानी करने के लिए बनाया गया है।

बंबई उच्च न्यायालय ने कहा है कि अगर किसी महिला के जीवन को खतरा हो तो कोई पंजीकृत डॉक्टर अदालत की अनुमति के बिना भी 20 सप्ताह से अधिक के गर्भ का गर्भपात करा सकता है।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के परिवर्तन होते हैं। इनमें हार्मोनल बदलाव सबसे अहम होता है। कई बार मन और तन ठीक नहीं रहते। कभी उबकाई आती है तो कभी थकान महसूस होती है। ऐसे में विटामिन बी-12 एक ऐसा तत्व है, जो गर्भावस्था के दौरान महिला तथा शिशु दोनों को …

डॉ. सीमा सिंह. स्त्री रोग विशेषज्ञ , लखनऊ लखनऊ : मां बनने के छह-सात महीने बाद तक महिलाओं को महवारी नहीं आती है। इसकी वजह शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव है। ऐसे में महिलाओं को लगता है कि इस बीच गर्भधारण नहीं होगा। इसलिए वे गर्भनिरोधक उपायों को नहीं अपनाती हैं। लेकिन कई बार …

नई दिल्ली। विश्व में मिर्गी एक बड़ी समस्या है। यह बीमारी पुरुष-महिला दोनों को होती है, लेकिन गर्भवती महिलाओं में इसका अधिक खतरा रहता है। इसमें गर्भवती महिला के साथ गर्भस्थ शिशु को नुकसान होने का खतरा रहता है। जनन योग्य महिलाएं में मिर्गी दो तरह से हो सकती है। एक तो वो महिलाएं जिनको …