world news

अफगानिस्तान से सीरियल ब्लास्ट की एक बड़ी खबर आ रही है। अफगानिस्तान के जलालाबाद में बम धमाके हुए है। ये बम धमाका अफगानिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के दिन हुआ है। यह भी बताया जा रहा है कि इस घटना में 66 लोग घायल हो गए हैं।

मिस इंग्लैंड 2019 का खिताब भारत की रहने वाली भाषा मुखर्जी ने जीता है। मॉडलिंग में अपना हुनर दिखाने के साथ भाषा बुजुर्गों के लिए सामाजिक संस्था भी चलाती हैं। जिंदगी के इस मुकाम पर पहुुंची भाषा के संघर्ष की कहानी आपको सुनाने जा रहे हैं।

ब्राज़ील में पारा राज्य की एक जेल में दो गुटों के बीच हुए संघर्ष में कम से कम 52 क़ैदियों की मौत हो गई। वहां के अधिकारियों के मुताबिक़ अल्टामीरा जेल में करीब पांच घंटे तक गैंगवार जारी रहा।

रेस्टोरेंट और उसमें बैठकर खाना खाना कौन सी बड़ी बात है। इसके बारे में बात करके  कौन सा तीर मारने वाले हैं तो हम आपको बता दें कि  हम जिस रेस्तंरा के बारे में बात कर रहे हैं। वो ऐसा वैसा नहीं, बिल्कुल अनोखा रेस्टोरेंट है, यहां जाकर आप खाना तो खाना चाहेंगे, लेकिन रेस्टोरेंट में परोसे जाने का स्टाइल देखकर बिना खाए शायद  लौट आए।

खौफनाक तरीके से एक महिला ने पति के प्राइवेट पार्ट के साथ जो किया, वो सुन कर आप दंग रह जाएंगे । पत्नी जो अपनेे पति की लम्बी उम्र की कामना के लिए तरह-तरह की पूजा-पाठ और व्रत रखती है। लेकिन एक ये महिला है जिसने कैंची से अपने पूर्व पति के प्राइवेट पार्ट काट डाले।

अपना घर छोड़कर दूसरे जगह जाकर बसना आसान नहीं होता हैं। बात अगर घूमने की हो, तब तो ठीक हैं लेकिन अगर अपना घर छोड़कर जाने के लिए कोई कहे, तो यह बात बहुत बुरी लगती है।

ये कोई फिल्मी कहानी नहीं हैं और न ही मनगढ़न कहानी। हां लेकिन एक ऐसी कहानी है जो फिल्मी को लगती हैं, भूतियां भी पर बहुत सच्ची कहानी है। जीं हां आज से लगभग 30 साल पहले रूस की सीमा पर बसा डोबरुसा गांव जहां लगभग 200 लोग रहते थे।

हम आपको बता दें कि पाकिस्तान के ऑल राउंडर अब्दुल रज्जाक शादी के बाद महिलांओं के साथ अफेयर्स की वजह से आज कल सुर्ख़ियों में हैं। पाकिस्तान के अच्छे ऑलराउंडर में से एक रहे अब्दुल रज्जाक ने एक सनसनीखेज खुलासा कर सबको हैरान कर दिया है।

पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करते हुए मुंबई हमले के मास्टर माइंड व जमात-उद-दावा चीफ  हाफिज को जेल भेज दिया है। हालांकि, आप पाकिस्तान की कार्रवाई पर भरोसा नहीं कर सकते हैं, क्योंकि हाफिज को लेकर पाकिस्तान पहले भी ऐसी ड्रामेबाजी कर चुका है लेकिन इससे हाफिज के मंसूबों पर कोई फर्क नहीं पड़ता।

विगत कुछ दशकों में लिंचिंग की घटनाओं का भारत स्वयं भुक्तभोगी बन गया है। लिंचिंग की घटनाएं आज देश में बेरोक-टोक जारी हैं। इस तरह के अपराधियों के खिलाफ सरकार के पास अलग से कोई कानून नहीं है।