×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

Bamleshwari Temple Dongargarh: बहुत खास है छत्तीसगढ़ का बमलेश्वरी देवी मंदिर, जानें यहां का इतिहास

Bamleshwari Temple Dongargarh: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव से कुछ ही दूरी पर मां बमलेश्वरी का मंदिर मौजूद है, जो बहुत प्रसिद्ध है।

Richa Vishwadeepak Tiwari
Published on: 11 Jun 2024 11:37 AM GMT
Bamleshwari Temple Dongargarh
X

Bamleshwari Temple Dongargarh (Photos - Social Media)

Bamleshwari Temple Dongargarh : छत्तीसगढ़ भारत का एक प्रसिद्ध राज्य है और यहां के राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ शहर में बमलेश्वरी देवी का मंदिर मौजूद है जो काफी प्रसिद्ध है। 1600 फीट की ऊंचाई पर एक पहाड़ी की चोटी पर यह मंदिर मौजूद है जहां पहुंचने के लिए 1100 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती है। इस मंदिर को बड़ी बमलेश्वरी के नाम से पहचाना जाता है। यहां से आधा किलोमीटर की दूरी पर छोटी बमलेश्वरी का एक और मंदिर मौजूद है। छत्तीसगढ़ के लोगों के बीच यह जगह काफी पूजनीय है और साल भर यहां भक्तों की भीड़ लगी रहती है।

ऐसा है बमलेश्वरी का इतिहास (History of Bamleshwari)

इस जगह के इतिहास की बात करें तो डोंगर का मतलब पहाड़ होता है और गढ़ का मतलब किला होता है। कहानियों के मुताबिक 2200 साल पहले एक स्थानीय राजा वीर सिंह भी संतान थे और अपने शाही पुजारी की सुझाव पर देवी देवताओं की पूजन करते थे। 1 वर्ष के भीतर ही उनकी रानी ने पुत्र को जन्म दिया जिसका नाम उन्होंने मदन सेन रखा। राजा वीरसेन से भगवान शिव पार्वती का वरदान मांगा और एक मंदिर का निर्माण कराया। यह मानता भी है की मां बमलेश्वरी देवी का मंदिर उज्जैन के राजा विक्रमादित्य ने 2000 साल पहले करवाया था।

Bamleshwari Temple Dongargarh

Bamleshwari Temple Dongargarh

बमलेश्वरी मंदिर का महत्व (Importance of Bamleshwari Temple)

इस मंदिर के महत्व की बात करें तो यह मंदिर मां बगलामुखी देवी को समर्पित है जो देवी दुर्गा का शक्तिशाली रूप है। यहां पहुंचने के लिए 1100 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती है। ऐसा कहां जाता है कि राजा वीर सेन ने अपने सच्चे उत्तराधिकारी के लिए देवताओं को खुश करने के लिए इस मंदिर का निर्माण करवाया था। यहां पर श्रद्धालुओं के आराम के स्तर को ध्यान में रखते हुए बनाया गया रोपवे पथ मौजूद है। देवी बमलेश्वरी की शक्ति को देखने के लिए ऊपर से शानदार दृश्य भक्तों का आकर्षित करते हैं। इसके विपरीत पर्वत पर बुद्ध की एक विशाल मूर्ति दिखाई देती है और ऐसा लगता है कि किसी राह में स्थिति में से वहां रखा गया है।

मंदिर का समय (Time)

बमलेश्वरी मंदिर सुबह 5:00 बजे खुल जाता है और रात को 9:00 बजे बंद हो जाता है। इस समय के बीच आप कभी भी यहां पर दर्शन करने के लिए पहुंच सकते हैं।

Bamleshwari Temple Dongargarh

Bamleshwari Temple Dongargarh

कैसे पहुंचे (How To Reach)

अगर आप हवाई मार्ग से यहां पर पहुंचाना चाहते हैं, तो निकटतम हवाई अड्डा स्वामी विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा रायपुर है, जो यहां से 72 किलोमीटर दूर है।

ट्रेन से अगर आप यहां पहुंचना चाहते हैं तो दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, अहमदाबाद, रायपुर, चेन्नई से राजनांदगांव के लिए आपको कई सारी ट्रेन मिल जाएगी।

यह जगह राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़ी हुई है क्योंकि यह शहर NH 6 पर मौजूद है। रायपुर से यह 72 किलोमीटर दूर है और नागपुर से 212 किलोमीटर पड़ता है।

Richa Vishwadeepak Tiwari

Richa Vishwadeepak Tiwari

Content Writer

मैं रिचा विश्वदीपक तिवारी पिछले 12 सालों से मीडिया के क्षेत्र में सक्रिय हूं। 2011 से मैंने इस क्षेत्र में काम की शुरुआत की और विभिन्न न्यूज चैनल के साथ काम करने के अलावा मैंने पीआर और सेलिब्रिटी मैनेजमेंट का काम भी किया है। साल 2019 से मैंने जर्नलिस्ट के तौर पर अपने सफर को शुरू किया। इतने सालों में मैंने डायमंड पब्लिकेशंस/गृह लक्ष्मी, फर्स्ट इंडिया/भारत 24, UT रील्स, प्रातः काल, ई-खबरी जैसी संस्थाओं के साथ काम किया है। मुझे नई चीजों के बारे में जानना, लिखना बहुत पसंद हैं , साथ ही साथ मुझे गाना गाना, और नए भाषाओं को सीखना बहुत अच्छा लगता हैं, मैं अपने लोकल भाषा से बहुत प्रभावित हु जिसमे , अवधी, इंदौरी, और बुंदेलखंडी आती हैं ।

Next Story