×

Summer Vacations: जब आप छुट्टियां बिताने बाहर जाएं, तो इन बातों का रखें ध्यान

Summer Vacations: मनचाहे जगहों में आप छुट्टियों के दौरान यात्रा की पूरी योजना पहले से बना लें, तो आप कई रमणीय स्थलों का स्वर्गिक आनंद ले सकते हैं। अच्छा होगा यदि आप कुछ माह पूर्व ही पूरी तरह सोच विचार कर तैयारी आरंभ कर दें।

Sarojini Sriharsha
Published on 7 April 2022 4:27 PM GMT
Summer Vacations
X

Summer Vacations। (Photo- Social Media) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Best Summer Holiday Destinations: कोरोना महामारी (Coronavirus) के चलते पिछले 2 सालों से ज्यादातर लोग बाहर घूमने का प्लान नहीं बना पाये हैं। पर अब धीरे-धीरे लोगों की जिंदगी फिर से बाहर की दुनिया के साथ चलने लगी है। बच्चों के स्कूल-कॉलेज भी ऑफलाइन होने लगे हैं। कुछ ही दिनों में गर्मी की छुट्टियां होने वाली हैं। इन छुट्टियों का हर उम्र के लोगों को बेसब्री से इंतजार रहता है। सभी की चाह होती है की वह कहीं बाहर जाकर घूमें फिरें। व्यक्ति की इसी घूमने फिरने की चाह ने पर्यटन व्यवसाय को अच्छा खासा बल प्रदान किया है।

समाचार पत्रों , इंटरनेट एवं टीवी के माध्यम से निरंतर मनोरम पर्वतीय स्थलों, लहराते समुद्र के किनारे या किसी ऐतिहासिक स्थल की रंग बिरंगी तस्वीरें देखकर एक बात की इच्छा होती ही है- "काश हम सपरिवार वहा होते।" लेकिन आम आदमी की जिंदगी में अपनी इस इच्छा को साकार करने में कई बाधाएं होती हैं कि इस यात्रा के लिए खर्च कहां से आएगा।

मनचाहे जगहों में आप छुट्टियों के दौरान पहले से बना लें यात्रा की पूरी योजना

मनचाहे जगहों में आप छुट्टियों के दौरान यात्रा की पूरी योजना पहले से बना लें तो आप कई रमणीय स्थलों का स्वर्गिक आनंद ले सकते हैं। अच्छा होगा यदि आप कुछ माह पूर्व ही पूरी तरह सोच विचार कर तैयारी आरंभ कर दें, ताकि यात्रा पर जाने के समय आप के इंतजाम में कोई कसर बाकी न रह जाए। खास कर छोटे बच्चों का परिवार के बुजुर्ग सदस्यों के साथ यात्रा पर निकलते समय आप का पूरा कार्यक्रम योजनाबद्ध होना चाहिए। अच्छा होगा अगर आप अपने पास एक डायरी कलम रखें और जैसे जैसे कोई बात याद आए आप उसे लिखते जाएं।

सबसे पहले तो आप यह तय कीजिए की आप कहां जाना चाहते हैं। समाचार पत्रों, इंटरनेट के अलावा अपने किसी मित्र के परामर्श से भी आप किसी विशेष स्थान पर जाने का कार्यक्रम बना सकते हैं, जहां वह स्वयं हो आया है। लेकिन स्थान का चयन पूरी तरह व्यावहारिक होकर कीजिए। अगर परिवार का कोई सदस्य हृदय रोग से पीड़ित है तो किसी पर्वतीय स्थल का कार्यक्रम न ही बने तो अच्छा है। ऐसी स्थिति में समुद्र किनारे रेत पर टहलना रोमांचक एवं लाभप्रद होगा। लेकिन यदि आप गर्मियों में वहां गए तो कड़ी धूप और तपती रेत दिनभर का मजा किरकिरा कर देगी।

धार्मिक स्थल पर जाने से पहले पता करें सुविधाएं

  • किसी धार्मिक स्थल पर जाने की इच्छा होने पर वहां की सभी सुविधाओं का पता अवश्य लगा लें। क्योंकि यात्रियों को सभी धार्मिक स्थलों पर सारी सुविधाएं नहीं मिलती। मुंबई, कोलकाता, दिल्ली या चेन्नई जैसे महानगरों में होटल में रहना काफी महंगा पड़ता है। अगर आप को भीड़ भाड़ वाले दिनों में पर्वतीय स्थलों पर मत जाइए। मौसम के बाद वहां जाने पर आप को होटल में रियायत का लाभ भी मिलेगा। कहीं का भी कार्यक्रम निश्चित कीजिए लेकिन वर्षा के दिनों में यात्रा से अवश्य बचिए।
  • स्थान का चयन करने के बाद अब सोचिए की कितना खर्च करने की स्थिति में हैं। यह बजट बड़ी सावधानी से बनाया जाना चाहिए। पर्यटन स्थल तक आने जाने का किराया, वहां ठहरने का खर्च, होटल से दर्शनीय स्थल पर आने जाने का किराया, वहां ठहरने का खर्च, होटल से दर्शनीय स्थल पर आने जाने की व्यवस्था और वहां कुछ खरीदारी करनी हो तो सभी बातों को ध्यान में अवश्य रखिए। कुल खर्च जोड़ कर कुछ अतिरिक्त राशि भी उसमें मिला दे ताकि वक्त बेवक्त जरूरत पड़ने पर आपको परेशानी नहीं होने पाए।
  • अगर होटल अपने ग्राहकों को अग्रिम बुकिंग करते हैं तो और भी अच्छा होगा। अपनी जेब की मुताबिक होटल चुनकर वहां पहले ही अपने लिए कमरे बुक कराने के लिए लिख दें। होटल बुकिंग के बाद रेल आरक्षण भी करवा लें। अगर बस या अन्य वाहन से यात्रा का कार्यक्रम है तो फिर इसकी कोई जरूरत नहीं है। कार्यक्रम इस तरह बनाइए की मुख्य स्थल देखने के बाद आप आसपास जगहों पर भी कोई दर्शनीय स्थल है तो उसे देख पाएं। एक दो दिन के बाद सुबह या दोपहर का समय खाली मिले तो ध्यान रखें कि बच्चों और बड़ों को आराम करने का वक्त मिल जायेगा।
  • साथ में जितना कम समान होगा, यात्रा में उतना ही अधिक आनंद आएगा। अतः यात्रा के लिए बिल्कुल जरूरी चीज ही साथ रखें। कोशिश कीजिए की ऐसे कपड़े साथ ले जाएं जिन्हे धोकर बिना इस्तरी किए भी पहना जा सके। बच्चों के लिए ऐसे कपड़े साथ में रखिए जो जल्दी मैले न हों और धोने पर जल्दी सूख भी सकें।
  • अगर आप पहाड़ की सैर पर जा रहे हैं तो जरा अच्छे जूते साथ में ले जाएं क्योंकि सैंडल या चप्पल से न तो आप चढ़ाई चढ़ सकते हैं और न ही रेत पर चल सकते हैं। बच्चों के लिए ऊनी जोड़े , टोपी या जैकेट अवश्य ले लें। महिलाओं को हमारी एक और सलाह है कि मेकअप का सामान भी कम से कम ही साथ ले जाएं। खाने पीने की कुछ वस्तुएं भी रख लें। अगर आप कार में जा रहे हैं तो थर्मस साथ में अवश्य रखें। सड़क के किनारे कोई अच्छी सी चाय की दुकान नजर आए तो थर्मस में चाय भरवा लें। कुछ दवाइयां साथ में अवश्य ले लें।
  • अपने साथ ज्यादा नकद लेकर मत चलिए। कार्ड का उपयोग कर सकते हैं। घर से निकलते वक्त सब सामान चेक करके घर को अच्छे से बंद कर लें ताकि सफर पर निकलते समय घर की चिंता न रहे। घर से चलने से पहले बहुमूल्य वस्तुओं को ढंग से संभाल लीजिए। दूधवाले, अखबार वाले को उतने दिनों के लिए मना कर दीजिए। खिड़की दरवाजों, बिजली स्वीच और नल आदि को ठीक से बंद कर दें।अब तो सारी योजना तैयार हो गई तो अपना सामान बांधिए और यात्रा का आनंद लेने के लिए रवाना हो जाइए। पर्यटन की यह मौजमस्ती आपकी जीवन भर याद रहेगी।

देश-दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story