×

Dalahi Kund : भारत का रहस्यमयी कुंड, जहां ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी

Dalahi Kund : दलाही कुंड के बारे में कहा जाता है कि अगर आप कुंड के सामने ताली बजाएंगे तो पानी अपने आप ऊपर उठने लगता है। देखने में ऐसा लगता है जैसे किसी बर्तन में पानी उबल रहा है।

Network

NetworkNewstrack NetworkAshikiPublished By Ashiki

Published on 12 Sep 2021 11:55 AM GMT

Dalahi Kund
X

दलाही कुंड (Photo- Social Media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Dalahi Kund: आपने कई जगहों के बारे में सुना या देखा होगा जहां होने वाली प्राकृतिक घटनाओं के बारे में आप समझ न पाए हों? रूपकुंड से लेकर गंगा के उद्गम स्थल तक और कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक ऐसी बहुत सी जगह हैं, जिन्हें प्रकृति का करिश्मा माना जाता है। दुनियाभर में आज भी कई ऐसी चीजें हैं, जो लोगों के लिए रहस्य बनी हुई हैं। लोगों ने इनका राज जानने की खूब कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिल पाई। इनके रहस्य आज भी अनसुलझे हैं।

एक ऐसा ही रहस्यमयी कुंड (Rahasyamayi Kund) भारत में भी है। इस कुंड का रहस्य जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे और सोचेंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है। तो चलिए जानते हैं इस रहस्यमय कुंड के बारे में...

दलाही कुंड (Dalahi Kund Ke Bare Me)

ये रहस्यमय कुंड झारखंड (Jharkhand) के बोकारो (Bokaro) जिले में स्थित है। इस कुंड का नाम दलाही कुंड ( Dalahi Kund ) है। इस जगह का पानी अपने आप हरकतें करता है। इसके बारे में कहा जाता है कि अगर आप कुंड के सामने ताली बजाएंगे तो पानी अपने आप ऊपर उठने लगता है। देखने में ऐसा लगता है जैसे किसी बर्तन में पानी उबल रहा है। यहां देशभर से सैलानियों के साथ-साथ कई शोधकर्ता भी आते हैं और इस कुंड में होने वाली गतिविधियों के बारे में जानने की कोशिश करते हैं, लेकिन इसके रहस्य आज भी अनसुलझे हैं।


कहां स्थित है दलाही कुंड? ( Dalahi Kund Kaha hai )

दलाही कुंड झारखंड के बोकारो शहर से लगभग 27 किलोमीटर दूर स्थित है। ऐसा माना जाता है कि ये जगह प्राकृतिक चमत्कारों से भरपूर है और इसलिए इसे एक टूरिस्ट स्पॉट (tourist spot) के तौर पर फेमस किया जा रहा है।

दलाही कुंड का रहस्य ( Dalahi Kund Ka rahasy)

दलाही कुंड के पास तालियां बजाने पर पानी ऊपर आ जाता है यह तो आपने जान लिया, लेकिन शायद आप ये नहीं जानते होंगे कि इस कुंड का पानी असल में इतना गर्म और उबला हुआ होता है कि इस पानी से चावल भी पकाए जा सकते हैं। इस कुंड को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। इसके अलावा लोगों का मानना है कि पानी में जो कोई भी मन्नत मांगता है, उसकी सारी मन्नत पूरी हो जाती हैं। यह कंक्रीट की दीवारों से घिरा हुआ है। कहा जाता है कि इस कुंड में से गर्मियों में ठंडा और सर्दियों में गर्म पानी निकलता है। यह भी एक रहस्य ही है।


कहां से आता है और कहां जाता है ये पानी?

कहा जाता है कि अभी तक इस कुंड में की गई रिसर्च में ये नहीं पता लग पाया है कि इसमें पानी कहां से आता है। हालांकि इस कुंड से निकलने वाला पानी जमुई नामक नाले से होता हुआ गर्गा नदी में जरूर जाता है। इस कुंड के आस-पास अब कॉन्क्रीट की दीवारें बना दी गई हैं और इस कुंड के पास में ही दलाही गोसाई का देव स्थान भी बना हुआ है।

रविवार के दिन यहां पर खास पूजा-पाठ किया जाता है और ऐसा माना जाता है कि इस जलाशय के पानी में औषधीय गुण हैं। दलाही कुंड के पास हर साल मकर संक्रांति पर दलाही कुंड (Dalahi Kund) के पास मेला भी लगता है।

ताली बजाने पर पानी उठने का क्या है साइंटिफिक कारण?

साइंस की मानें तो ध्वनि तरंगों से होने वाला कंपन पानी को ऊपर की ओर उठाता होगा। कुछ रिपोर्ट्स इस साइंटिफिक थ्योरी को भी सही ठहराती हैं जिनके आधार पर ऐसी जगहों पर पानी काफी नीचे की ओर होता है और ध्वनि तरंगें पानी से टकरा कर इस तरह की स्थिति पैदा करती हैं।

Ashiki

Ashiki

Next Story